फेसबुक का यार होटल बुलाया चुदाई के लिए अपना सगा भाई निकला

Hindi Stories NewStoriesBDnew bangla choti kahini

Facebook Par Bahan Pati Bhai Se : आज मैं आपको एक ऐसी सेक्स कहानी नॉनवेज storynew bangla choti kahini पर लिख रही हूं जिसको पढ़कर आपको बहुत ज्यादा हैरानी होगी। यह कहानी फेसबुक पर मित्र बनाने से लेकर होटल बुलाने से लेकर होटल में रंगरेलियां मनाने की है। पहले ना तो मुझे पता था ना मेरे भाई को पता था हम दोनों ही फेसबुक पर मिले थे और फिर हम दोनों ने ही प्लान बनाया चैट के माध्यम से की होटल में जाकर मिलेंगे और सेक्स करेंगे। पर जब मैं होटल पहुंची तो हैरान हो गई जिस कमरे में गई में जिस कमरे का नंबर मुझे दिया गया था उस कमरे का कुंडे खोलते ही अंदर मेरा भाई बैठा हुआ था मेरे इंतजार में। मैं आपको पूरी कहानी सिलसिलेवार तरीके से आपको बताने जा रही हूं।

मेरा नाम प्रिया है मेरे भाई का नाम शांतनु है। मेरा भाई 22 साल का है और मैं 19 साल की लड़की हूं। गोंडा जिले की रहने वाली हूं उत्तर प्रदेश राज्य में गोंडा आता है। आजकल गांव में फेसबुक काफी ज्यादा चल रहा है। जो फेसबुक नहीं चलाता है उसका कोई वजूद नहीं है आजकल ऐसा हो गया है। मुझे नहीं पता आप शहर से हैं या गांव से है जो मेरी कहानी पागल हैं पर मैं आपको इतना बता देना चाहती हूं कि आजकल जमाना सोशल मीडिया का हो गया है चाहे लड़का हो या लड़की हो सारे लोग एक दूसरे से दोस्ती करने के लिए बेताब रहते हैं।

लड़के की दोस्ती हमेशा लड़कियां पटाने के लिए होता है ताकि होटल बुलाकर उसकी चूत की चुदाई करें। और लड़कियां अपने सहेलियों को देखकर अपनी सहेलियों को रिझाने के लिए ताकि मैं तुमसे ज्यादा सुंदर हो अच्छी हूं क्योंकि मेरे कई सारे बॉयफ्रेंड है इस चक्कर में वह नए-नए लड़के को पटाते हैं और लड़का तो पहले से ही तक में रहता है कि कैसे में होटल बुलाकर उसके चूत में लंड घुसा सकूं।

सीधे कहानी पर आती हूं आपका समय बर्बाद नहीं करना चाहती हो क्योंकि मुझे पता है इस वेबसाइट के जो भी पाठक हैं वह बड़े ही हॉट और सेक्सी होते हैं। रोजाना यहां पर कहां पर ले आते हैं क्योंकि एक यही ऐसी साइट है जहां पर मजेदार सेक्सी और नई-नई सेक्स कहानियां मिलती है पढ़ने के लिए।

हम दोनों को ही मेरे मम्मी पापा ने मोबाइल फोन दिलवाया। मोबाइल फोन पर सबसे पहले हम दोनों ने फेसबुक इंस्टॉल किया और व्हाट्सएप इंस्टॉल किया उसके बाद अपने दोस्तों को फोन किया उसको बताया वह भी ऐसा ही करा था मैं भी ऐसा ही कर रही थी। धीरे-धीरे हम दोनों रात में काफी ज्यादा बिजी हो जाते थे बोला कमरे में सोता था मैं अलग कमरे में सोती थी। मोबाइल का हम दोनों को ही लत लग गया था दोस्तों मैं कई सारे एडल्ट सिनेमा भी देखने लगी थी रात को उसके बाद खुद से अपनी चुचियों को मसल दी थी अपनी चूत में उंगली डालती थी। मेरा व्यवहार काफी ज्यादा बदल गया था जब से मेरे घर में मोबाइल फोन आया था मेरे भाई का भी और मेरा भी मेरे मम्मी पापा दोनों ही सरकारी नौकरी में काम करते हैं तो वह दोनों सुबह चले जाते थे हम दोनों भाई बहन भी कॉलेज से आकर पढ़ाई से आकर मोबाइल में ही हमेशा लिप्त रहते थे।

तुरंत ही मेरे फेसबुक पर 256 फ्रेंड बन गए 1 दिन की बात है एक फ्रेंड रिक्वेस्ट एक लड़के का आया था जिसका नाम कबीर था देखने में बहुत हॉट लग रहा था बॉडी बना हुआ था और अपने प्रोफाइल में लिख रखा था कि ना वह शराब पीता ना सिगरेट पीता है लंबा चौड़ा गोरा दिख रहा था बाल भी उसके बड़े स्टाइल के झाड़ रखे थे यह सब देखकर मैं कबीर पर फिदा हो गई। हम दोनों रोजाना अब चैट करने लगे रोजाना बातचीत करने लगे चैट के ही माध्यम से। हम लोग एक अच्छे फेसबुक फ्रेंड बन चुके थे पर अभी तक हम दोनों ने अपना नंबर शेयर नहीं किया था। हम दोनों ने एक दूसरे से यह वादा किया था कि हम लोग पहले नंबर सेव नहीं करेंगे पहले मिलेंगे क्योंकि हम दोनों को ही पता चल गया था कि वह मेरे आसपास का ही है उसे जिला का है तो जब मैं गोंडा आने के लिए उसको बोली कि आकर मिल लेते हैं हम दोनों। वह तैयार हो गया और हम दोनों ने 1 मार्च को मिलने का प्लान बनाया गोंडा के एक होटल में।

गोंडा का जो होटल था वह अक्सर गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड ही आते जाते थे क्योंकि वहां पर किराए पर कमरा 2 घंटे के लिए भी मिलता था 4 घंटे के लिए भी मिलता था। पहले हम दोनों में बात हो चुकी थी कि हम लोग एक दूसरे के साथ सेक्स संबंध बनाएंगे क्योंकि पहले हम दोनों के बीच में सेक्सुअल बातचीत हमेशा होते रहता था इस वजह से झिझक भी खत्म हो गई थी रोजाना मैं उसके लंड के बारे में पूछती थी। वो भी चूत के बारे में पूछता था वह हमेशा पूछता था कि तुम्हारे चूचियां कितनी बड़ी है तुम कितने नंबर की ब्रा पहनती हो तुम्हारी चूत पर बाल है या नहीं है इस तरह के वह मेरे से प्रश्न करा करता था।

प्लान बन गया था 1 तारीख को मिलना था मैं समय से घर से निकल गई थी मेरा भाई भी सुबह ही कॉलेज जाने के बहाने वह भी निकल गया था। जो एड्रेस हमें दिया गया था उसमें कमरा नंबर 301 था मैं उस होटल में जाकर कमरा नंबर 301 वहां पर रिसेप्शन पर पूछे और मैं सीधे कमरा नंबर 301 में पहुंच गई। इस बीच में मोबाइल पर चैटिंग हो ही रही थी कि तुम जल्दी आ जाओ मैं बोल रही थी मैं पहुंच चुकी हूं मैं जैसे ही रिसेप्शन पर पहुंची मैं उसको फिर से टेक्स्ट मैसेज कर दी थी कि मैं आ चुकी हूं होटल में अब मैं ऊपर चला रही हूं तीसरे फ्लोर पर 301 नंबर कमरा था तो वह मुझे बोल रहा था कि मैं कमरे में बैठा हुआ हूं कुंडी खुला हुआ है तुम आ जाओ।

जैसे ही मैं कुंडी खोली 301 नंबर कमरे का मेरा भाई शांतनु बैठा हुआ था मैं बड़ा सेक्सी कपड़ा पहन कर गई हुई थी उस दिन मेरी चूचियां साफ-साफ ऊपर से दिखाई दे रही थी शांतनु जैसे मुझे देखा वह खड़ा हो गया और मैं अंदर जाते ही पूछे तुम यहां क्या कर रहे हो मुझे लगा कि यह मेरा रेकी कर रहा है इस वजह से यहां पर आ गया है तो उसने फिर बोला तुम यहां क्या कर रही हो। फिर हम दोनों को पता चला कि जिस लड़के से मैं प्यार करने लगी थी फेसबुक पर वह यही है और उसको भी यह पता चल गया कि जिससे यह प्यार करने लगा था जिस लड़की से वह लड़की मैं हूं।

हम दोनों भाई बहन एक दूसरे के सामने गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड बन कर खड़े थे। पर दोस्तों इतने दिनों से हमारी जब बातचीत हो रही थी हम दोनों इस मौके का फायदा उठाना चाहते थे इस मौके को खोना नहीं चाहते थे इस वजह से हम दोनों ने डिसाइड किया कि आज हम दोनों भाई बहन नहीं है आज हम दोनों गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड हैं जिस काम के लिए हम दोनों आए हैं वह काम हम दोनों पूरा करेंगे और हम दोनों एक दूसरे को गले लगते हुए होंठ पर चुम्मा लेने लगे।

मेरा भाई धीरे-धीरे करके मेरा कपड़े उतारने लगा ब्रा का हुक खोलते ही वह पागल की तरह बिहेव करने लगा मेरे चुचियों को जबरदस्त तरीके से दबाने लगा मेरे गांड को दबाने लगा मेरे चूतड़ को सहलाने लगा मैं तो पागल हो रही थी अपने भाई के प्यार में। मैं भी ज्यादा देर न करते हुए तुरंत ही उसका बेल्ट खोली जींस को नीचे की उसका लंड पकड़ कर अपने मुंह में ले ली।

मैं उसके लंड को चूसने लगी उसका लंड करीब 8 इंच का था बहुत मजा आ रहा था वह मेरे चुचियों को दबाते हुए अपना लंड मेरे मुंह में अंदर बाहर कर रहा था। उसके बाद उसने मुझे बेड पर लिटा दिया मैं अपने चूत के बाल को उस दिन साफ करके गई हुई थी क्योंकि मुझे पता था मेरा फेसबुक का फ्रेंड मुझे चोदेगा तो मैं क्लीन सेव करके गई थी अपनी चूत का। मेरा भाई मेरी चूत को देखते ही पागल की तरह करने लगा उसने तुरंत ही मेरी चूत में अपनी छोटी उंगली घुसा दिया उसके बाद उंगली घुसा या उसके बाद तीन उंगली घुसा या उसके बाद 4 उंगली घुसाने लगा पर मुझे काफी ज्यादा दर्द होने लगा था।

मैं उस टाइम तक काफी ज्यादा कामुक हो गई थी मेरी चूत काफी गीली हो गई थी। मैं गर्म हो चुकी थी मुझे लंड जल्दी चाहिए था मेरे चूत के अंदर मैंने अपने भाई को बोली कि तुम मुझे जल्दी चोद दो। मेरा भाई भी बिना देर किए अपना लंड मेरी चूत के छेद पर रखा जोर से घुसा दिया पूरा लंड एक बार में ही अंदर चला गया पर मैं दर्द से छटपटा ने लगी थी वह मेरी चूचियों को मसलते हुए मेरे होंठ को चूमते हुए जोर जोर से धक्का दे देकर मेरे चूत के अंदर अपना मोटा लंड घुसा दिया था।

मेरी गांड बहुत चौड़ी है दोस्तों मुझे पहले से ही पता था कि मेरा बॉयफ्रेंड मेरी गांड जरूर मारेगा क्योंकि फेसबुक चैट पर ही उसने मुझे यह सब बातें बोल दिया था कि जिस दिन मैं तुम्हें सेक्स करूंगा तेरी चूत में उस दिन मैं तुम्हें गांड भी चोद दूंगा मैं भी उसको मना नहीं की थी तो चोदते चोदते उसने मुझे याद दिलाया कि तुमने आज मुझे गांड भी मारने देना है। मैं इतना ज्यादा गरम हो चुकी थी मैं किसी चीज के लिए मना नहीं कर पाई मैं तुरंत ही पलट गई अपनी गांड उसके सामने कर दी उसने मेरी गांड के छेद पर अपना थूक लगाया फिर उंगली डाली फिर अपना मोटा लंड डालने लगा पर मुझे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था।

मैंने उसको धीरे-धीरे अपनी गांड में लंड घुसाने के लिए बोली वह धीरे-धीरे करके अपना पूरा लंड मेरी गांड में घुसा दिया अब वह जोर जोर से धक्के देने लगा चूतड़ के बीच में उसने एक मोटा खंभा घुसा दिया था ऐसा मुझे लग रहा है। फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया पीछे से लंड मेरी चूत के छेद पर लगाकर जोर से घुस आने लगा नीचे से मेरी दोनों चूचियों को मसलते हुए वह मुझे चोदने लगा मुझे बहुत मजा आ रहा था दोस्तों फिर मैं खड़ी हो गई एक टांग को बेड पर रखी उसके बाद वह बीच में आकर अपना लंड घुसा दिया मैं खड़े-खड़े करीब 10 मिनट तक अपनी चूत में लंड ली।

फिर वह नीचे लेट गया मैं उसके ऊपर चढ़ गई उसका मोटा लंड पकड़ कर अपने चूत के छेद पर रख कर बैठ गई पूरा लंड मेरी चूत के अंदर तुरंत ही चला गया था , सिसकारियां लेती हुई अंगड़ाइयां लेती हुई गांड को गोल गोल घुमा घुमा कर उसका मोटा लंड अपनी चूत में लेकर जोर जोर से धक्के दे देकर चुदवाने लगी करीब 2 घंटे की चुदाई में हम दोनों शांत हुए। फिर हम दोनों साथ में नहाए नंगे होकर क्योंकि पहले से यह प्लान था कि जब भी हम लोग मिलेंगे एक साथ नंगे नहाएंगे।

फिर हम दोनों घर के लिए निकल पड़े थे पर हम लोग अलग-अलग निकले थे ताकि लोगों को पता नहीं चले कि हम दोनों कहां से आ रहे हैं। उस दिन के बाद से हम दोनों रोजाना रात को चुदाई करते हैं जब मम्मी पापा सो जाते हैं पर हां प्रिकॉशन कभी नहीं भूलते हैं वह हमेशा कंडोम लगाकर ही मुझे चोदता है ताकि ऐसा ना हो कि कुछ गलत हो जाए और समाज में मुंह दिखाने लायक ना रहूं इस वजह से प्रिकॉशन बहुत जरूरी होता है आजकल प्रिकॉशन लेकर हम दोनों एक दूसरे को खुश कर रहे हैं।

मैं अपनी दूसरी कहानी जल्दी ही नॉनवेज storynew bangla choti kahini पर लिखने वाली हूं तब तक के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद आप सभी का।

See also  मेरी बड़ी बहन चुदाई के लिए पागल हो जाती है

Leave a Comment