बीबी समझ बहन को चोदा

Hindi Stories NewStoriesBDBangla choti golpo

पिछले महीने की आपको कहानी बता रहा हूं। इंसान को जिंदगी में कई बार ऐसा कुछ ऐसी गलतियां हो जाती हैं, जिसकी भरपाई वह जिंदगी भर नहीं कर पाता है। मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ उस रात को याद करके अभी भी मैं बहुत ही शर्मिंदा हो जाता हूं। पर आपको जानकर यह हैरानी होगी यह शर्मिंदगी सिर्फ मुझे हुई मेरी बहन को नहीं। अब मैं पूरी कहानी आपको नॉनवेज storyBangla choti golpo पर लिख रहा हूं ताकि आपको भी पता चले कि कैसे मैंने बीवी समझ कर अपनी बहन को ही चोद दिया क्या कारण था।

मेरा नाम राहुल है मेरी शादी और मेरी बहन की शादी मैं अंतर मात्र 15 दिन का था। मेरे से 15 दिन पहले मेरी बहन की शादी हुई थी। मेरी बहन और मेरी बीवी दोनों का कद काठी रूप रंग एक जैसा ही है अगर वह दोनों घुंघट में रहे तो पहचाना मुश्किल हो जाता है कि कौन मेरी बहन है कौन मेरी बीवी है। बस गलती यही हो गई दोनों नई नवेली दुल्हन है मेरी शादी में मेरी बहन आ गई थी। और मेरी शादी के बाद मेरी बहन 1 महीने के लिए यही रुकने वाली थी।

जितने मेहमान आए थे वह सब वापस चले गए घर में मेरी बहन मेरी बीवी मेरे मम्मी पापा बस 5 लोग थे। आपको तो पता है दोस्तों किसी भी इंसान की जब शादी होती है तो दिन भर वह मौका तलाश था है अपनी नई नवेली दुल्हन को चोदने के लिए जब भी समय मिलता हूं दिन में शाम को वह एक बार लंड को अपनी नई नवेली बीवी की चूत में डाल ही देता है। इस मौके का फायदा उठाना चाहता है हमेशा यह देखते रहता है कोई घर में तो नहीं है। और जैसे ही उसको पता चले कि घर में कोई नहीं है या घरवाले कहीं और गए हुए वह तुरंत ही एक शॉट मार ही देता है।

ऐसा ही हुआ एक दिन मैं बार-बार घर जाकर देख रहा था कि मेरी बहन मेरी मम्मी और मेरे पापा तीनों इधर उधर जाए छत पर जाएं या बगीचे में जाए तो मैं एक बार अपने बीवी को कस के चोद दूं। वह भी सही सब शाम को तीनों बगीचे के तरफ जाते हुए मैंने देखा। मैं भागकर घर आया और मैं तुरंत मेन दरवाजा बंद करके मेरी बहन मेरे ही पलंग पर सोई हुई थी और मुझे। दोनों एक जैसे लाल लाल साड़ी पहनी थी तो समझ नहीं आया।

मैं तुरंत ही भाग कर गया और साड़ी को उठाया पहनती तुरंत निकाला अंधेरा थोड़ा सा था कमरे में इस वजह से साफ-साफ मुझे कुछ दिखाई नहीं दे रहा था मेरी बहन को तो बोलना चाहे मैंने तुरंत अपना हाथ उसके मुंह पर रख लिया ताकि वह बोल ना सके। और मैं यह कहने लगा तेरे मम्मी पापा भी बाहर गए हैं बस एक शॉट मारने दो मैं पागल हो जाऊंगा तू इतनी खूबसूरत हो गई है शादी के बाद कि मैं बर्दाश्त नहीं कर पा रहा हूं जैसे मैं तुमको देखता हूं वैसे लगता है कि मैं तुम्हें चोद दूं।

यह सारी बातें मैं अपनी बीवी को कह रहा था पर मेरी बीवी वह थी नहीं मेरी बहन थी। जब मेरी बातों को सुनी तो वह चुपचाप हो गई जबकि उसको बोलना चाहिए था कि मैं तुम्हारी बहन हूं वह चुपचाप हो गई शायद उसको लगा था कि मैं सच में उसको चोदना चाह रहा हूं और मैं उसको बोल रहा हूं वह। तुरंत ही अपने टांगो को फैलाते और सरक का थोड़ा नीचे आ गई। ताकि मैं उसके चूत में आराम से अपना लंड घुसा सकूं। मैंने तुरंत ही अपना लंड निकाला थोड़ा सा थूक लगाया और अपनी बहन को अपनी तरफ खींच कर दोनों टांगों को पकड़कर बीच में लंड लगाकर जोर से घुसा दिया।

उसके बाद में जल्दी-जल्दी चोदने लगा क्योंकि डर इस बात का था कि मम्मी पापा वापस ना आ जाए। मैं जल्दी-जल्दी अपनी बहन को ही चोदने लगा मुझे लग रहा था कि वह मेरी बीवी है मैं तुरंत ही उसकी चूचियों को दबाना शुरू किया। उसने ब्लाउज का हुक खोल दिया मैंने ब्रा को ऊपर खींच कर उसकी चुचियों को बाहर निकाल दिया और मैं चूची को दबाते हुए उसको जोर जोर से चोदने लगा।

सच तो बात यह था दोस्तों उस समय में थोड़ा नशा में भी था इस वजह से मैं अपनी बीवी और बहन अलग अलग नहीं कर पाया खुद के दिमाग से। क्योंकि मैं जल्दी से जल्दी चोद लेना चाहता था। पर थोड़ा सा अंतर था मेरी बहन की चूत काफी टाइट थी और चूचियां भी टाइट थी मुझे बहुत मजा आ रहा था। मैंने अपनी बहन को समय बोला है कि तेरी चूत आज टाइट हो गई है। तुम जबरदस्त लग रही हो आज मेरी बहन चुपचाप अपनी टांगे खोल कर मेरे लंड को अंदर बाहर लेकर सिसकारियां अपने मुंह से ले रही थी।

मैं जल्दी-जल्दी चोदने लगा क्योंकि मेरा माल झड़ने वाला था मैं उसकी चुचियों को दबाते हुए मैं जोर जोर से धक्के देने लगा उसके चूत में वह भी अपनी गांड को गोल-गोल घुमा घुमा कर मेरे मोटे लंड को अपने चूत के अंदर ले रही थी। अचानक से मेरा सारा माल निकलने वाला था मैं जल्दी जल्दी चोदने लगा और फिर मेरा सारा माल निकल गया मैंने चूत के अंदर ही अपना सारा माल छोड़ दिया। उसके बाद में उसी पर लेट गया और उसके गाल को चूमने लगा, होठ को चूमने लगा।

जैसे ही मैंने अपनी बहन के गाल पर चुम्मा लिया और उसके होंठ पर चुम्मा लिया वैसे ही पता चल गया कि मेरी बीवी नहीं मेरी बहन है मेरी बहन मुझे देख रही थी। मैं तुरंत ही एक झटके से अलग हो गया और मैंने कहा गलती हो गई मेरे से मुझे लगा कि तुम्हारी भाभी है इस वजह से आज मैं यह काम कर गया मैं बहुत शर्मिंदा हूं। बहन बोली शर्मिंदा की क्या बात है ऐसा होता ही है कोई बात नहीं मुझे भी पता है कि तुम से गलती हो गई इसलिए मैं तुम्हें माफ कर रही हूं।

मैंने कहा मुझे माफ कर देना बहन मैं नहीं चाहता था तुमको चोदने के लिए मैं तो अपनी बीवी को चोदना चाह रहा था गलती से मैंने तुम्हें चोद दिया। मेरी बहन बोली कोई बात नहीं ऐसा होता है खैर जब भी तुम्हें लगे मजे करने के लिए तो तुम मुझे चोद सकते हो मैं कभी मना नहीं करूंगी मुझे भी बहुत मजा आया। और उस दिन के बाद से शर्मिंदा तो मैं हूं क्योंकि मैंने अपनी बहन को चोदा बीपी समझकर पर मेरी बहन को जरा भी किसी बात का गम नहीं है वह तो हमेशा टांगें खोलकर मुझसे चुदवाने के लिए तैयार रहती है मैं जल्द ही अपनी दूसरी कहानी नॉनवेज storyBangla choti golpo पर लिखने वाला हूं तब तक के लिए आप सभी दोस्तों को मेरा प्यार भरा नमस्कार।

See also  First Sex Experience Story - Hindi Sex Story, Chudai

Leave a Comment