बेटी की सहेली की चूत का मज़ा लिया

Hindi Stories NewStoriesBDnew bangla choti kahini

Beti ki saheli ki chudai:- हैलो दोस्तों! पिछले पार्ट मे आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी बेटी को उसके बॉयफ्रेंड के साथ कार मे मज़े करते हूँए देखा। फिर मेरी उसके लिए भावनाएं बादल गयी। और मै अब उसको चोदना चाहता था और उसके लिए मैंने उसकी फ्रेंड दीपिका की हेल्प लेने की सोची. फिर मैं दीपिका को कॉलेज के बाहर मिला और उसको लगा मैं उसको चोदना चाहता हूँ. इसलिए उसने मुझसे 5000 मांगे. और मैंने भी उसको पैसे दे दिए. फिर जैसे ही मैं उससे शाइना की बात करने लगा तो उसने मेरे होंठो पर अपनी फिंगर रख दी. अब कहानी मे आगे चलते है. अगर आपने पिछला पार्ट नही पढ़ा है तो यहाँ क्लिक करें

Beti ki saheli ki chudai kahani

दीपिका ने मेरे लिप्स पर फिंगर रखी तो मैं चुप हो गया. फिर वो नीचे झुकी और उसने मेरी पैंट की ज़िप खोलनी शुरू कर दी. मैं फिरसे बोलने लगा तो उसने मुझे “शीईईई” बोल दिया. फिर उसने मेरा लंड बाहर निकाला और उस पर किस किया. उसके किस करते ही मैं समझ गया की उसने मुझसे चुदने के पैसे लिए थे. मैंने सोचा की बेटी को बाद में चोद लेंगे पहले इस लड़की की चूत का मज़ा ले लिया जाये. फिर दीपिका ने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और उसको चूसने लग गयी. बड़ा मज़ा आता है जब एक कॉलेज की लड़की आपका लंड चूसती है. मुझे भी स्वर्ग ही नज़र आ रहा था. मेरे सामने उसकी बैक थी और उसकी गांड थी जो उभरी हुई थी. मैंने उसकी गांड पर अपना हाथ रखा और उसको दबाने लग गया. दीपिका बड़े अच्छे से मेरा लंड चूस रही थी जैसे कोई प्रोफेशनल हो. फिर मैंने उसके सर पर अपना हाथ रखा और कमर हिला कर अपने लंड से उसके मुँह में धक्के मारने लगा. गल्प-गल्प की आवाज़ आने लगी और उसके मुँह से थूक निकल कर मेरे लंड पर बह रहा था. उसके मुँह की गर्माहट मेरे लंड को और भी सख्त कर रही थी. Beti ki saheli ki chudai

फिर मैंने उसके टॉप को पीछे से पकड़ा और उसको उठा कर उसकी पीठ पर किस करने लगा. उसके बाद मैंने उसका टॉप उतार दिया. अब वो मेरे सामने ब्रा और जीन्स में थी. मैंने उसको अपनी तरफ खींचा और अपनी गोद में बिठा लिया. फिर मैं उसके होंठ चूसने लगा. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. मैं अपने एक हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था. वो मस्त हुई जा रही थी. फिर मैं अपना मुँह उसके बूब्स पर ले गया. मैंने एक-एक करके उसके मस्त बूब्स को चूसना शुरू कर दिया. बड़ा मज़ा आ रहा था. जवान लड़की के सख्त बूब्स चूसने का तो मज़ा ही कुछ और है. मैं रोमांस करने में इतना बिजी हो गया था की मैं भूल ही गया था की मैं एक पब्लिक प्लेस पर था. फिर मैंने उसको वापस उसकी सीट पर भेजा और उसको अपने ऑफिस ले गया.

Beti ki saheli ko choda

मेरे केबिन में एक रेस्ट रूम भी है जहा पर एक सिंगल बेड भी है. जैसे ही मैं अपने केबिन में उसको लेके गया वो मेरे ऑफिस टेबल पर जाके बैठ गयी और उसने अपनी टॉप एंड ब्रा उतार दी. मैंने भी अपने कपडे उतार दिए और मैं अब सिर्फ अंडरवियर में था. फिर मैं उसको दोबारा किस करने लगा और उसके बूब्स चूसने लगा. मैंने अपने टेबल पर से सामान हटाया और उसको वही लिटा लिया. फिर मैंने उसकी जीन्स उतारी और अब वो मेरे सामने पैंटी में थी. उसकी सेक्सी जांघें देख कर मैं पागल हो गया और उसकी जाँघों को चाटने लगा. मैंने उसके पैरों से लेके उसकी जाँघों तक की जगह को चाट-चाट कर अपने थूक से गीला कर दिया. फिर मैंने उसकी पैंटी को कमर से पकड़ा और उसको नीचे उतार दिया. अब उस रंडी की क्लीन-शेव चूत मेरे सामने थी. उसकी चूत को देखते ही मेरे मुँह में पानी आ गया. मैंने अपना मुँह उसकी चूत पर लगा लिया और उस पर किस करने लग गया. वो कामुक सिसकारियां लेने लग गयी. Beti ki saheli ki chudai

फिर मैं धीरे-धीरे उसकी चूत पर जीभ फेरने लगा. उसने अपना हाथ मेरे सर पर रख लिया और अपनी चूत में दबाने लग गयी. फिर मैंने ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत को चूसना शुरू कर दिया. मैं जीभ उसकी चूत के अंदर-बाहर करने लगा. वो मदहोश हो रही थी और आहह आहह ओह्ह की आवाज़े निकाल रही थी. मैं उसकी चूत को अपने दांतो से काटने और रगड़ने लगा. इससे उसको दर्द भी होता और मज़ा भी आता. अब वक़्त आ गया था उसकी जवान चूत को चोदने का. मैंने अपना अंडरवियर उतार दिया और लंड हाथ में लेके मसलने लग गया. उसने लंड की तरफ देखते हुए बोला:

दीपिका – अंकल आपका लंड काफी बड़ा और मोटा है. इसको ज़रा आराम से डालना. इतना बड़ा लेने से दर्द होता है.

फिर मैं लंड को उसकी चूत पर रगड़ कर उसको तड़पाने लगा. वो आह अहह करने लगी और मुझे लंड अंदर डालने को बोलने लग गयी. लेकिन मैं उसको तड़पाता रहा. मैं बार-बार लंड उसकी चूत के मुँह पर थोड़ा दबाता और फिर उसको नीचे ले जाता. लेकिन इस बार जैसे ही मैंने लंड को उसकी चूत के मुँह पर दबाया उसने नीचे से गांड उठा कर लंड अंदर ले लिया. साथ ही उसने अपनी टाँगे मेरी कमर पर लपेट ली ताकि मैं लंड निकाल न पाऊँ. फिर वो बोली-

बेटी की सहेली की चुदाई कहानी

दीपिका: चोदो अंकल मुझे.

मैंने भी ज़ोर से धक्का मारा जिससे उसकी चीख निकल गयी और पूरा लंड उसकी चूत में समा गया. उसको दर्द होने लगा लेकिन मज़ा भी आ रहा था. फिर मैं जानवरो की तरह ज़ोर के धक्के मारने लगा. पूरा टेबल हिल रहा था. लेकिन हम दोनों को बहुत मज़ा आ रहा था. अगले 20 मिनट मैं उसी पोजीशन में उसको चोदता रहा. इस बीच उसकी चूत एक बार पानी छोड़ चुकी थी. अब मेरा होने वाला था तो मैंने उसको बताया. वो बोली- Beti ki saheli ki chudai

दीपिका: अंदर ही डाल दीजिये अंकल. मेरा भी होने वाला है. और मैं इसका मज़ा खराब नहीं करना चाहती.

फिर 20-30 धक्के मैंने और मारे और अपना सारा पानी उसकी कमसिन चूत में निकाल दिया. इसके आगे क्या हुआ वो आपको अगले पार्ट में पता चलेगा. अभी शाइना की चुदाई बाकी है तो कहानी को फॉलो करते रहिये. अपनी फीडबैक आप कमेंट करके दे सकते है की आपको कहानी कैसी लगी.

Read More Sex Stories –

See also  Cab Driver Sex Story, Driver Hindi Sex Story, Driver Ki Sexy Kahani

Leave a Comment