बेटे ने माँ की चूत मे मोटा लौडा पेल दिया

Hindi Stories NewStoriesBDBangla choti golpo

Maa ki chut mari:- हैल्लो दोस्तों! मेरा नाम राजकुमार गुप्ता है मुझे सेक्स बहुत पसंद है मैं सीधा कहानी पर आता हूं। मैं राजकुमार हरियाणा का रहने वाला हूँ. मुझे सेक्स की आदत बचपन से पड़ गई थी. मुझे सेक्स की आदत मेरे माता पिता के कारण पड़ी. मैं एक छोटे से किसान परिवार से हूं. हमारे पास खुद का घर है. जिसमे दो कमरे है और रसोई बाथरूम और टॉयलेट है हमारे पास चार एकड़ जमीन है. मेरे घर मे मैं ओर मेरे माता पिता है.

Maa ki chut mari hindi story

बात तब की है जब मैं बहुत छोटा था. करीब दस साल का, और हम सब एक ही कमरे मे सोते थे. तो जब हम सोते थे, मेरे सोने के बाद मेरे माता पिता सेक्स करते थे. जब वह सेक्स करते थे तो आवाज़ आती थी, जिस कारण मैं जग जाता था और उनको देखता रहता था. उस टाइम मुझे इसके बारे मे कुछ भी नहीं पता था. पर देख कर अच्छा लगता था. मेरे माता पिता को नहीं पता था कि मैं उन्हें देखता हूँ. कुछ साल ऐसे ही बीत गए.

ओर जब मैं बारह साल का हुआ तो सब समझने लगा और उन्हें सेक्स करते देखने लगा. ओर ये बात जब मैंने अपने एक दोस्त को बताई तो उसने मुझे सब समझा दिया की ये क्या होता है. अब मेरा भी सेक्स करने का मन करने लगा. ओर मैं ने अपने दोस्त से पूछा क्या करे किस के साथ करे.

तो उसने बताया की हम किसी लड़की के साथ नही कर सकते. और अगर किया तो मार पडेगी किसी को पता चल गया तो. फिर मैंने पूछा क्या करें. तब हमें नही पता था की सेक्स लड़की से करने मे ज्यादा मज़ा आता है हमें लगा किसी से भी करो, तो हम आपस मे सेक्स करने लगे. मुझे सेक्स करना मेरे दोस्त ने सिखया. जैसा वोह बोलता मैं करता था.

हमारे घर के पास एक सरकारी हॉस्पिटल है. काफ़ी बड़ा हैँ ओर रात को वहाँ कोई नही होता. और हम वहां जाकर रात को सेक्स करते, वोह मेरी गांड मे अपना लोला देता, ओर मैं उसकी गांड मे अपना लोला देता. हम एक दूसरे का लोला मुँह मे लेकर चूसते एक दूसरे की गांड चाट लेते. हम सब कुछ करते थे. Maa ki chut mari

Maa ki chut chudai ki kahani

धीरे धीरे मै बड़ा हुआ तो मेरे मातपिता को लगा की शायद मैं उन्हें सेक्स करते हुऐ देखता हूँ. तो उन्होंने दूसरे कमरे मे सेक्स करना सुरु किआ. उन्हें लगा की अब मैं उनको नही देख पाऊंगा. तो मैंने अगले दिन दूसरे कमरे की चुपके से एक खिड़की थोड़ी सी खोल दी जो मेरे कमरे मे thi. ओर अब जब भी वोह सेक्स करने दूसरे कमरे मे जाते मैं खिरकी से उन्हे देखता ओर जब उनका सेक्स ख़तम होता तो मैं जा कर सो जाता. अब जब मै ओर बड़ा हुआ तो हमारे घर पर बिजली का काम चल रहा था. ओर मैंने मिस्त्री से कह कर बाथरूम के दरवाजे मे मोरा (छेद ) करवा दिआ. ओर सुबह जब मेरे पिता खेत मे जाते ओर मेरी मम्मी बाथरूम मे नहाने जाती तो मैं उन्हें मोरे मे से देखता. उन्हें कपडे उतारते हुऐ देखता. जब वोह कपडे उतार देती ओर नंगी हो जाती तो बहुत ही खूबसूरत लगती. मै उन्हें रोज नंगा देखता ओर मुठ मरता.

एक बार जो मेरी माँ को नंगा देख ले उसका लंड दम तोड़ दे मतलब पानी छोड़ दे.

अब मैंने सोच लिया कि अपनी माँ को चोद कर रहूँगा.

मै सोच रहा था की कैसे अपनी माँ को चोदुँगा.

अगले दिन जब माँ नहाने गई तो मैंने देखा की मेरी माँ नंगी खड़ी है और अपने झांटो के बाल काट रही हैँ तभी मुझे एक विचार आया, अगले दिन जब मैं नहाने गया तो मैंने अपनी माँ से पूछा की रेसर (बाल काटने वाला ) कहाँ है. तो मेरी माँ ने पूछा की क्या करेगा, तेरे चेहरे पे बाल तो है नही, तो मैं चुप चाप माँ के सामने रेसर ले कर बाथरूम मे चला गया, मेरी माँ समझ गयी की मैं झांट के बाल काटूंगा. और जब मैं नहा कर बाहर आया तो सिर्फ तौलिया लपेट रखा था, और फिर मै जान बुझ कर माँ के सामने गया और तौलिया छोड़ दिया. तौलिया निचे गिर गया, और मैं नंगा हो गया. मेरी माँ ने मुझे गौर से देखा और तभी मेरा लंड खड़ा हो गया और बिलकुल साफ कोई बाल नही था लंड पर. वो समझ गयी की मैंने आज लंड के बाल काटे है, मैंने फौरन तौलिया लपेटा और ये दिखाया कि गलती से आपने आप खुल गया.

अगले दिन जब पापा खेत चले गए तो मैंने सोने का नाटक किया और उनके जाने के बाद जब माँ उठाने आयी और तो उन्होने मेरी चादर खींच ली तो उनकी नजर मेरे लंड पर गयी जो खड़ा था और पैजामा के बाहर था। वो तुरंत बाहर चली गयी और मैंने लंड अंदर किया और उठने का नाटक किया और कमरे के बाहर गया, तो मेरे पैजामा के अंदर टेंट बना हुआ था जिससे पता चल रहा था कि मेरा लंड खड़ा है। Maa ki chut mari

मै सेक्स के लिए तड़प रहा था. मुझे लगा की मेरी माँ ऐसे नही मानेगी मुझे ही कुछ करना पड़ेगा.

Maa ki chut mari kahani in hindi

और अगले दिन मेरे पिता कुछ दिनों के लिए बाहर चले गए, मुझे लगा कि ये सही मौका हैँ. मै तभी बाहर गया और तुरंत नींद की स्ट्रांग दवाई ले आया और रात को दूध मे मिला कर माँ को पिला दिया. जिससे मेरी माँ गहरी नींद मे सो गई. मैं थोड़ी देर बाद उनके कमरे मे गया और चेक किया कि मेरी माँ सो गयी है या नहीं। फिर जब मुझे यकीन हो गया तो मैंने धीरे धीरे उनके कपडे उतारे. वो सलवार कमीज पहनती है.

पहले उनके कमीज को उतार दिया, फिर उनकी सफ़ेद ब्रा को उतार दिया, फिर उनको लिप किस किया। दस मिनट तक फिर उनको चाटते हुऐ नाभी तक पहुँच गया फिर उनकी नाभी को चाट लियाऔर फिर पुरे पेट को चाट लिया फिर उनकी पीठ चाटी और फिर उनके गोल गोल मम्मे, मज़ा आ गया।

मैंने फिर उनकी सलवार का नाड़ा खोला ओर उतार कर दूर फ़ेंक दिया ओर उनके पैरों को चाटते हुए ऊपर चुत तक गया. ओर उनकी सफ़ेद पेंटी उतार कर सूंघने लगा, क्या खुश्बू थी बता नही सकता.

मेरी माँ मेरे सामने नंगी थी जैसे कोई बड़ा केक, मन किया कि खा जाऊ. इसके बाद मैंने अपनी माँ के हाथ पैर बेड से बांध दिए ताकि भाग ना सके. और इसके बाद मैंने अपनी नंगी माँ के फोटो लिए हर तरह से. फिर मैंने उनके मुँह पे पानी फेंका ताकि उन्हें होश आ जाये. जब उन्हें होश आया तो खुद को नंगा देख कर हैरान हो गईं ओर उठने की कोशिश की पर नहीं उठ पाई और मुझे सामने देख कर बोली..

माँ – ये क्या है?

मैंने कहा कुछ नहीं ओर बोली..

मुझे छोड़!

मैंने कहा नहीं! अभी नहीं! पहले आपके साथ सेक्स करूँगा उसके बाद सोचूंगा.

तो माँ ने कहा ये गलत है!

मैंने कहा नहीं आज सब सही है.

और फिर माँ ने मुझे गाली दी, पर वह कुछ कर नहीं सकती थी और कोई सुनने वाला नहीं था। वो गिडगिराने लगी पर मुझ पर कोई असर नही। मैंने खींच कर दो झापड़ दिए तो वो रोने लगी। फिर मैं माँ की चुत के पास गया और चाटने लगा चुत का सारा पानी पी गया और फिर मैंने गांड चाटी। Maa ki chut mari

Maa ki chut ki kahani hindi

माँ ने रोते हुऐ कहा मुझ बाथरूम करना है तो मैंने कहा करो मेरे मुँह मे ओर मैं सारा मूत पी गया और फिर मैंने अपनी माँ की चुदाई शुरू की. दोस्तों मैं आपको अपने ओर अपनी माँ के बारे मे बताना भूल गया तो मेरी माँ का नाम किरण है वो काफ़ी भोली भाली है पर पढ़ी लिखी भी है. उन्होंने BA कर रखी है और अच्छे विचार वाली औरत है. वो काफ़ी सुन्दर लम्बी है. उनकी हाइट 6 फ़ीट है. उनका रंग गोरा ओर मम्मे बड़े है. और काफ़ी सेहतमंद है उनके मोटे मोटे चूतड़ है. मैं आपको पहले बता चुका हूँ की एक बार जो उनको नंगा देख ले तो पागल हो जाये ओर उसका लंड तुरंत पानी छोड़ दें. गरीब परिवार से होने के कारण, उनकी शादी मेरे पिता से हो गयी. और अब मैं आपको अपने बारे मे बता देता हूँ. मैं भी काफ़ी गोरा ओर लम्बा हूँ. मै 6 फ़ीट से ज्यादा लम्बा हूँ ओर मेरी बॉडी काफ़ी अच्छी है. मैंने बी.कॉम कर ली है पर कोई जॉब ना होने के कारण पिता के साथ खेती करता हूँ. मेरा लंड 9 इंच लम्बा ओर 3 इंच चौड़ा है. एक बार किसी की चुत मे चला जाए तो फाड़ के रख दे. तो मैं कहानी पर आता हूँ, जब मैंने मेरी माँ की चुदाई शुरू की तो उन्होंने मेरा काफ़ी विरोध किया ओर मुझे गाली दी. जिस कारण मुझे काफ़ी गुस्सा आया ओर मैंने दो झापड़ उनके गाल पर मारे ओर वोह रोने लगी. ओर फिर मैं ने उनकी गांड चटनी शुरू की. क्या गांड थी, मन करता था की गांड मे ही रहूं, मैने बीस मिनट उनकी गांड को चाटा और फिर उनकी चूत चाटी.

दोस्तों मुझे गांड चुत चाटना काफ़ी पसंद है और गांड ओर चुत का पानी पीने मे भी मज़ा आता है उनकी गांड ओर चुत के पानी का कोई मुकाबला नहीं. वो अभी भी रो रही थी और कह रही थी की मुझे छोड़ दो पर मैंने नहीं छोड़ा और उनके मुँह मे लंड डाल दिया और अंदर बहार करने लगा. और दस मिनट बाद अपना वीर्य उनके मुँह मे छोड़ दिया. और उनको पिला दिया. वो फिर कहने लगी मुझे छोड़ दो, तो मैंने एक ओर झापड़ मारा और वो रोती रही. फिर मैं उनके सामने नंगा हो गया वो मेरा लंड देख कर डर गयी ओर काफ़ी सहम गयी, मैंने कहा की अगर कुछ भी बोला तो और मार पड़ेगी, तो वो रोती रही ओर फिर मैंने लंड उनकी चुत पर रख कर जोर से धक्का मारा तो लंड एक इंच अंदर गया ओर वो चीख पड़ी और वोह दर्द से कराह रही थी ओर जोर से रोने लगी। मैंने बिलकुल रहम नहीं किया और फिर से धक्का मारा तो लंड 3 इंच और अंदर गया और वो दर्द से बेहोश हो गयी। मैं पानी मार कर उन्हें होश मे लाया और वो दर्द से रोती रही, फिर मैंने लंड थोड़ा बाहर निकाला. फिर मैंने लंड को वापस से चुत पर रख कर जोर का धक्का मारा जिससे लंड सारा अंदर चला गया ओर वो जोर से चीख पड़ी और फिर मैं लंड को अंदर बाहर करने लगा. और बीस मिनट बाद उनकी चुत मे अपना वीर्य निकाल दिया और फिर मैंने उनकी गांड मारी, मैंने सारी रात अपनी माँ को खूब चोदा.

फिर मैं मेरी माँ के साथ नंगा ही सो गया. फिर हम सुबह दो बजे उठे मैरी माँ से तो चला भी नहीं जा रहा था. ओर मैंने उनसे माफ़ी मांगी और कहा…

मै – सॉरी माँ आगे से नहीं करूँगा, मैं सेक्स मे पागल हो गया था, काफ़ी सालो से तड़प रहा था तो उन्होंने मुझसे बोलना बंद कर दिया.

और मैं उन्हें सहारा दे कर बाथरूम ले गया उन्हें फ़्रेश करवा आ ओर अपने हाथों से उनके चूतड़ साफ किया और गांड भी साफ की ओर उनको नहलाया ओर उनकी खूब मालिश की और कपडे पहनाये. ओर उनकी तीन दिन खूब सेवा की और वोह जल्दी ठीक हो गयी पर मेरे साथ नहीं बोली तो मेरे पिता भी आ गए. मैने अपनी माँ की खूब सेवा की पर वो नहीं मानी. फिर अगले दिन मैंने उनसे अकेले मे कहा..Maa ki chut mari

Maa ko choda bete ne

मै – मै जा रहा हूँ और कभी नहीं आऊंगा।

और अपना समान लेने कमरे मे गया और मैं जब जा रहा था, तो उन्होंने मुझे पीछे से पकड़ के रोक लिया और कहा..

माँ – अगर तुम सारी उम्र हमारी सेवा करोगे, तो तुम को माफ कर दूंगी ओर आगे से ऐसी हरकत मत करना।

मैंने कहा ठीक है

और उन्होंने मुझे गले लगा लिया। फिर उसी रात को मेरे परिवार ने खाना खाया और फिर मेरे पिता ने माँ से कहा की काम जल्दी खत्म किया करो, देर रात तक काम मत किया करो। मैं समझ गया की आज मेरे पिता मेरी माँ को चोदना चाहते है। फिर मैं अपने कमरे मे चला गया और लाइट बंद कर के लेट गया। मेरी माँ को लगा मैं सो गया ओर फिर मैं उठा और देखा की मेरी माँ कमरे मे जा रही है और फिर उन्होने दरवाजा बंद कर लिया. तो मै खिड़की से देखने लगा। मैंने देखा की मेरे पिता ने मेरी माँ को नंगा कर दिया और खुद भी नंगे होकर मेरी माँ चुदाई कर रहे है। मैंने देखा की आज मेरी माँ चुदाई से ख़ुश नहीं थी, मैंने अनदेखा कर दिया ओर जा कर सो गया. फिर जब सुबह पिता के खेत जाने के बाद मैं नहाने गया, तो दरवाजा बंद करना भूल गया ओर नंगा होकर नहाने लगा और मेरी माँ के नाम की मुठ मारने लगा. मुझे नहीं पता था कि माँ मुझे देख रही है वो देख कर चली गयी और मैं नहा कर कमरे मे चला गया.

अब कुछ दिन बीत गए ओर मैं रोज बाथरूम मे मुठ मारने लगा ओर मुठ मारते टाइम आह्ह्हह्ह्ह्ह की आवाज निकलती थी, जो मेरी माँ सुनती थी. फिर कुछ दिन बाद मैं जब कमरे मे फ़ोन पे दोस्त से बात कर रहा था, कि लड़की का इंतजाम करे. मेरी माँ सब बातें सुन रही थी. मैं आपको एक बात बता दूँ कि अब मैं बड़ा हो गया हूँ ओर हमारे कमरे अलग अलग है. रात को माँ मेरे कमरे मे आई तो मैं मुठ मार रहा था। माँ ने देखा और कहा…

माँ – क्या कर रहे हो?

तो मैंने कहा कुछ नही!

तो वोह बोली मैंने सब देख लिया है और वो बोली की ये गलत है।

मैंने कहा – तो क्या करूँ? मैं तड़प रहा हूँ!

वो बोली की तुम मुठ मारते हो, ये मै सहन कर लूंगी, पर जो बात तुम आपने दोस्त से कह रहे थे वो गलत है.

मै बोला क्या?

वह बोली की मैंने सारी बाते सुन ली थी, जो तुम बोल रहे थे. लड़की का इंतजाम करने का वो बिलकुल नहीं चलेगा.

तो मैंने कहा क्या करूँ? मै सेक्स मे तड़प रहा हूँ, मै नहीं रहा सकता सेक्स के बिना. अगर आपको नहीं पसंद तो मै यहाँ से चला जाता हूँ. मैंने आपसे कहा था की मै घर मे कोई गलत काम नहीं करूँगा और आपकी सेवा करूँगा पर बाहर तो कर ही सकता हूँ। मेरा दोस्त तो अपनी माँ के साथ रोज सेक्स करता है. मै तो आपके साथ कुछ नहीं कर सकता पर बाहर कर सकता हूँ। Maa ki chut mari

तो वोह बोली पैसे कहाँ से लाएगा?

तो मैंने कहा की खुद को बेच दूंगा.

Maa ne bete se chudwaya

फिर वोह मेरी चिंता करने लगी, और सोचने लगी क्या करूँ. अगले दिन वोह पिता के खेत जाने के बाद मेरे कमरे मे आयी, मै लंड को हाथ मे लेकर मुठ मार रहा था. और माँ को देख कर लोड़ा अंदर कर लिया

वो कहने लगी कि तुमने कहा था की तुम मेरी सेवा करोगे.

मैंने कहा – हाँ करूँगा.

वोह बोली कैसे ओर कब?

मैंने कहा क्या करू बोलो।

तो माँ मेरे पास आई ओर धीरे धीरे अपना हाथ मेरे सर से लंड पर रखा ओर कहा कैसे करोगे. घर पर तुम्हारे पिता होते है, मै समझ गया की माँ क्या चाहती है, मै हैरान था.

मैंने कहा पर आपको ये पसंद नहीं है.

तो वो बोली तुम्हे बाहर गलत काम करने से रोकने के लिए कुछ भी करूंगी.

मैंने कहा नहीं, अगर तुम ख़ुश होकर करोगी तो तभी करूंगा, मजबूरी मे नहीं. मै बाहर कर लूँगा

वोह बोली कि मै खुशी से करूंगी.

मै बोला ठीक है रात को करेंगे.

माँ बोली कैसे?

मैंने कहा मै तुम्हे नींद की स्ट्रांग दवाई दूंगा जिसे पापा को पिला देना, वो तुरंत सो जाएंगे.

माँ ने कहा कि रोज नहीं. सप्ताह मे तीन बार.

मैंने कहा ठीक है.

पर जब मेरी शादी होगी तब भी मै तुमसे ही सेक्स करूँगा,

वोह बोली ठीक है.

माँ ने कहा की तुम बाहर कुछ नहीं करोगे, मेरे बन के रहोगे सिर्फ मेरे. तुम पर सिर्फ मेरा अधिकार होगा.

मैंने कहा ठीक है.

तो फिर शुरू होती है हमारी मस्त चुदाई.

मेरी माँ ने कहा की जिस दिन तुम मुझे चोदना चाहो मेरी गांड पर हाथ रख देना चुपके से, मै समझ जाउंगी ओर तेरे पिता को सुला दूंगी.

मैंने कहा ठीक है.

मैंने कहा आज रात को शुरू करेंगे।

तो, माँ ने पापा को सुला दिया और रात को मेरे कमरे मे आ गयी.

माँ ने कहा की जैसी पहले मेरी चुदाई की थी वैसे ही करना, पर आराम से.

मैने कहा प्यार से करूँगा.

फिर मैंने अपने बेड पर फूल बिछा दिए, जैसे हमारी सुहागरात हो. माँ ये सब देख कर ख़ुश हो गयी. फिर मैंने अपनी माँ को गोद मे उठा लिया ओर बेड पर लिटा दिया. उसके बाद मै अपनी माँ के पास गया ओर उनके माथे पर चुम्बन दिया. फिर मैने अपनी माँ के चेहरे को चूमा और चाटा. फिर मै उनकी गर्दन चूमने लगा और उनको लिप किस किया। दस मिनट तक उनकी जीभ को चूसा ओर उनके मुँह का रस पिया. बहुत मज़ा आया. फिर मैंने उनके मोटे मोटे स्तन को चूसा, उनकी कमीज उतार कर फ़ेंक दी उन्होंने मस्त ब्रा पहनी थी, जिसने स्तनों को कैद कर रखा था. मैंने ब्रा उतार कर उनको आजाद कर दिया और उनको चूसने लगा. मेरी माँ गर्म हो गयी थी ओर सिसकियाँ ले रही थी, और कह रही थी । Maa ki chut mari

Maa ki chut story hindi

आह्ह्ह चोद डाल अपनी इस माँ को.

मैंने कहा सब्र करो।

फिर मैंने उनका पेट चाटा ओर उनकी नाभी को भी चाटने लगा.

वो ओर गर्म हो गई और बोली जल्दी चोद मुझे मै तड़प रही हूँ.

मैंने कहा रुको आराम से चोदुँगा. मै भी काफ़ी तड़पा हूँ. फिर उन्होंने चादर को पकड़ लिया ओर सिसकियाँ लेने लगी, और फिर मैंने धीरे धीरे उनकी सलवार का नाड़ा खोला और उनकी सलवार उतार दी. फिर वो अब सिर्फ पैंटी मे थी, और मै उनकी पैंटी को सूंघने लगा और मदहोश होने लगा. मेरी माँ अब तड़प रही थी ओर कहने लगी..

माँ – बेटा मत तड़पा! चोद डाल मुझे जल्दी!

मैंने कहा रुको अभी.

वो तड़प कर रह गयी, फिर मैंने उनकी जांघो पैर तक तीन बार चाटा और उन्हें उत्तेजित किया. और फिर उनकी गांड ओर चुत को चाटा ओर उनका पानी भी पिया. अब वो बिना पानी की मछली की तरह तड़प रही थी.

मैंने कहा की आज का काम ख़तम, बाकि कल करेंगे.

वो गिड्गिड़ाने लगी प्लीज मुझे चोद दो मुझे मत तड़पाओ.

मैंने कहा की मै भी कई सालों तक तड़पा हूँ, अब आपकी बारी.

वोह कपडे पहने लगी. मैंने उनको रोका और कहा की आज रात आप नंगी ही रहोगे. तो वो अपने कमरे मे जाने लगी, मैंने उनको रोका ओर कहा नहीं आप मेरे कमरे मे रहो तो वो रुक गयी. वो बाथरूम जाने लगी मैंने पूछा क्यों. Maa ki chut mari

तो वोह बोली बाथरूम करने.

मैंने कहा नहीं यहाँ पर करो, वो कहने लगी कहाँ, मैंने कहा मेरे मुँह मे।

तो.माँ ने कहा नहीं ये नही होगा ये अच्छा नही है।

मैंने कहा नहीं माँ, आपकी गांड ओर चुत से निकले पानी से अच्छा कुछ नहीं है. ये मेरे लिए अमृत से भी अच्छा है।

और ये कह कर मै जमीन पर लेट गया, और माँ मेरे उपर आ गई ओर मैंने मुँह खोला, और माँ ने मेरे मुँह मे मूत दिया. मैंने मेरी माँ का सारा पेशाब पी लिआ ओर उसकी गांड भी चाटी.

फिर माँ ने कहा – प्लीज बेटा एक बार मुझे चोद दो मैं तड़प रही हूँ, कहीं पागल ना हो जाऊ.

मैंने कहा नही कल।

तो वो बाथरूम मे जाने लगी, मै जनता था की अब वोह चुत मे ऊँगली करेंगी. मैंने उनको रोका.

उन्होंने कहा प्लीज जाने दो.

मैंने नहीं जाने दिया और कहा अगर तुम गयी तो मैंने आगे से नहीं करूँगा और बाहर ही देखूंगा.

तो वोह चुप चाप बेड पर लेट गयी और चुत मे ऊँगली करने लगी,

मैंने उनको रोका और कहा कि नहीं, ये नही करना है, इसलिए तो बाथरूम नहीं जाने दिया.

तो वोह बोली प्लीज बेटा करने दो, मै मर रही हूँ।

मैंने कहा नहीं,

तो वो मायूस हो कर सोने लगी ओर तड़पने लगी.

बेटे ने माँ की चूत मारी

मै रात भर माँ को उत्तेजित करता रहा और वो तड़पती रही. मैने पूरी रात अपनी माँ के शरीर को चूसा और चाटा और दोनों नंगे ही सोये. सुबह जब हम उठे तो माँ ने मुझे उठाया कपडे भी पहने मेरा लंड खड़ा था. वो चुप चाप चली गयी. वो काफ़ी नाराज थी और पापा के जाने के बाद मेरे पास आयी और बोली…

माँ – रात को तुमने अच्छा नही किया, अब तुम कहीं भी जाओ पर मेरे पास मत आना और वो जाने लगी मैंने उनको पकड़ कर खींच लिया।

वोह बोली छोड़ मुझे.

मैंने उनको कहा रुको पहले मेरी बात सुनो.

वो बोली बोलो क्या बोलना है..

मैंने कहा मेरी प्यारी माँ मै तो बस ये अहसास करवाना चाहता था कि मै कितना तड़पा हूँ आपके लिए.

माँ ने कहा मतलब.

मैंने कहा की मै बहुत तड़पा हूँ. बहुत ज्यादा. काफ़ी वक़्त से तड़प रहा हूँ।

उनको दया आई मुझ पर वो बोली ठीक है मैं समझ गयी बेटा अब और नही तड़पने दूंगी. मैं तुम्हारी हू

मैंने कहा मैं भी तुम्हारा हूँ और वो मेरे गले लग गयी और बोली रात को तैयार रहना।

मैंने कहा ठीक है.

आगे क्या हुआ अगले भाग मे…

Read More Maa Beta Sex Stories..

See also  माँ के कहने से दीदी को माँ बनाया

Leave a Comment