माँ के साथ जंगल मे हुआ कांड 3

Hindi Stories NewStoriesBDBangla choti golpo

Maa bete ki chudai story:- दोस्तों पिछले पार्ट में आपने पढ़ा कि मम्मी और मैंने रात होने पर घर जाने का प्लान बनाया, क्यूंकी हम बिलकुल नंगे थे और रात मे ही हम अंधेरे मे बिना किसी के देखे घर जा सकते थे। तो मैंने मम्मी को अपना प्लान बताया और फिर से वॉटरफाल मे जाकर नहाने के लिए मनाया। अगर आपने पिछला पार्ट नही पढ़ा है तो पहले माँ के साथ जंगल मे हुआ कांड पार्ट 2 पढे। नहीं तो आपको कहानी मे मज़ा नहीं आएगा। अब आगे…

Maa bete ki chudai story

अभी भी हमे और 10 घंटे यहाँ रुकना था. हम वॉटरफॉल की तरफ जाने लगे.

माँ- बेटा मुझे तो अब डर लग रहा है कही कोई और न आ जाये यहाँ पे. पहले ही हम इस वॉटरफॉल के चक्कर में बहुत प्रॉब्लम झेल चुके है.

मै-लेकिन और कोई उपाय भी तो नहीं है, हमे और 10 घंटे यहाँ बिताने है, अब इतना कुछ हो गया कि हमे प्रॉब्लम के सिवा कुछ नहीं मिला, अब जो टाइम बचा है कम से कम थोड़ा एन्जॉय करके तो निकल सकते है न.

माँ- बात तो ठीक है तुम्हारी लेकिन अब इस हालत में एन्जॉय कैसे कर सकते है, टेंशन के कारण मेरा तो मुंहड भी नहीं है कुछ करने का, अब सिर्फ घर जाने का इंतजार है मुझे.

मै- माँ टेंशन लेने से टाइम जल्दी तो नहीं जायेगा न? उल्टा एन्जॉय करेंगे तो टाइम का पता भी नहीं चलेगा.

माँ-ठीक है मै कोशिश करती हूँ, लेकिन ये पत्ते जो हमने लपेटे है वो पानी के कारण खुल जायेंगे.

मै- माँ अब भी तुम्हें मुझपे भरोसा नहीं है? मुझे कुछ करना होता तो मै तभी करता जब मै तुम्हारे ऊपर लेटा था.

माँ- मुझे तुमपे पूरा भरोसा है लेकिन कोई और आ गया तो प्रॉब्लम होगी.

मै-अब कोई नहीं आएगा और आ भी गया तो मै संभाल लूंगा.

फिर हम वॉटरफॉल के नीचे नहाने चले गए. वॉटरफॉल के पानी से हमारे पत्ते खुल चुके थे और माँ भी मेरे साथ बिना शर्माए एन्जॉय कर रही थी. हम यहाँ अपनी मस्ती में इतने खोये हुवे थे की आने वाले खतरे को समझ नहीं पाए. जो आदमी हमारे पीछे पड़ा हुवा था वो फिर से आ गया. वो हमे देख के जोर से बोला। Maa bete ki chudai story

आदमी- कमीनो मुझे इतना दौड़ाया और तुम लोग मजे कर रहे हो, अब भाग के दिखाओ! ये वीडियो इंटरनेट पे वायरल कर दूंगा(उस के हाथ में मोबाइल था)।

हम दोनों बहुत डर गए.

माँ-(उसके सामने हाथ जोड़ते हुवे) प्लीज हमे जाने दो हम बहुत अच्छे परिवार से है.

आदमी- साली रंडी कही की, यहाँ नंगी नहा रही हो अपने यार के साथ, थोड़ी देर मुझे भी नहाना है फिर चली जाना आराम से.

मै-मै इसका यार नहीं, ये माँ है मेरी।

आदमी-वाह रे मादरचोद तेरी तो मौज है, अपनी ही माँ के साथ नंगा नहा रहा है, सिर्फ नंगा करके तो ऐसी आइटम को कोई छोड़ेगा नहीं! बोलो कितनी बार चोदा है इस रंडी को.

मै-हम तुम्हारी वजह से इस हालत में है वरना मै अपनी माँ की बहुत रेस्पेक्ट करता हूँ.

आदमी- रेस्पेक्ट करता है तो फिर सुबह मेरे आने से पहले भी तो तुम दोनों नंगे ही थे.

मै-वो.. वो.. गलती से….(मेरे मुह से शब्द निकल नहीं रहे थे)।

आदमी- चुप कर मादरचोद मै यहाँ तुम्हारी स्टोरी सुनने नहीं आया. अब जो मै बोलता हूँ वो करो, नहीं तो ये वीडियो वायरल कर दूंगा.

माँ- क्या करना होगा हमे?

आदमी-रुको जरा रंडी कितनी उतावली हो रही हो चुदने के लिए.

माँ-प्लीज ऐसी बाते मत करो मेरे बेटे के सामने.

आदमी- चुप साली नखरे बंद कर और मेरे पास आकर कपडे निकालो मेरे.

माँ- ये क्या कह रहे हो?

आदमी- साली रंडी जो बोलता हूँ वो कर नहीं तो पता है न क्या करूँगा.

Man bete ki chudai kahani

माँ की आँखों में अब आँसू आने लगे, वो मेरी तरफ देखने लगी. लेकिन मै भी कुछ नहीं कर सकता था, अगर वो वीडियो वायरल होता तो हमारी इज़्ज़त चली जाती. माँ भी समझ चुकी थी अब कुछ नहीं हो सकता. वो रोते हुवे उस आदमी के पास गयी और उसके कपडे निकालने लगी. पहले शर्ट उतारी फिर पैंट और फिर उसकी अंडरवियर भी उतारी. उसका लंड माँ को नंगा देख के पहले ही खड़ा था.

आदमी- चलो अब तीनो मिलके नहाते है.

उसने मोबाइल पैंट की जेब में डाला और हमे लेकर वॉटरफॉल के नीचे गया. नहाते हुवे वो माँ के पीछे गया और पीछे से दोनों हाथ आगे लेके गया और माँ के बूब्स पकड़ लिये. माँ अचानक हुवे इस हमले से कांपने लगी. Maa bete ki chudai story

माँ-प्लीज ऐसा मत कीजिये.

आदमी- लास्ट वार्निंग देता हूँ अब फिर एक बार भी नखरे किये तो वीडियो वायरल कर दूंगा.

फिर वो माँ के बूब्स जोर जोर से दबाने लगा. माँ सर नीचे झुकाके चुपचाप खड़ी थी. 10 मिनट बूब्स दबाने के बाद. वो आगे की तरफ आ गया और बूब्स चूसने लगा. माँ की तरफ से कोई रिएक्शन नहीं था वो मूरत बनके खड़ी थी. उसको माँ के बूब्स के साथ खेलता हुवा देख के मेरा भी लंड खड़ा हो गया. वो मेरी तरफ देखने लगा और बोला-

आदमी- साले तेरा भी मन कर रहा है क्या इसे चूसने का?

मै- नहीं!

आदमी – तो फिर ये खड़ा किसको देख के हुवा है?

मै कुछ जवाब नहीं दे पाया.

आदमी- मैं आज तक बहुत औरतों को चोद चूका हूँ लेकिन कभी माँ-बेटे को सेक्स करते नहीं देखा, लगता है आज मेरी ये ख्वाइश भी पूरी होगी.

मै- नहीं मै ऐसा कुछ नहीं करने वाला.

आदमी- अब तुम दोनों मेरे सेक्स टॉयज हो मै जैसा चाहूँ तुम लोगो को इस्तेमाल कर सकता हूँ.

माँ- प्लीज हमारे रिश्ते को कलंकित मत करो.

Maa ko choda sex story hindi

आदमी- ठीक है मै तुमको 2 चॉइस देता हूँ, एक तो तुम मुझसे चुदो या फिर अपने बेटे से. अब तुम चूस करो क्या तुम एक अजनबी के साथ चुदना पसंद करोगी, जोकी बहुत रफ़ चुदाई करेगा या फिर अपने बेटे के साथ जो तुम्हारी मुलायम चूत की आराम से चुदाई करेगा.

माँ कुछ नहीं बोली सिर्फ सर नीचे करके खड़ी थी.

आदमी- क्या सोच रही हो? जल्दी बोलो मेरे पास टाइम नहीं है.

माँ- मै अपने बेटे के साथ कैसे कर सकती हूँ।

आदमी-तो फिर मेरे साथ करो!

माँ- मैंने आज तक अपने पति के आलावा और किसी से नहीं किया है प्लीज मुझे जाने दो.

आदमी- चुदाई तो तेरी आज होगी अब तुम डीसाइड करो किस्से करवानी है.

माँ-लेकिन मै ये कैसे मान लूँ की बेटे के साथ करने के बाद तुम मुझे कुछ किये बिना जाने दोगे?

आदमी-मतलब तुम अपने बेटे के साथ करने को रेडी हो?

माँ- और कोई रास्ता छोड़ा है तुमने?

आदमी-ठीक है फिर शुरू करो।

माँ-लेकिन तुम पहले वादा करो इसके बाद हमे जाने दोगे और वो वीडियो भी डिलीट करोगे।

आदमी-ठीक है मै वादा करता हूँ अगर तुम अपने बेटे से चुदती हो तो फिर मै तुम्हारी चुदाई नहीं करूँगा.

आदमी- चलो अब इस शुभ काम की शुरवात मुह मीठा करके करते है…एक दूसरे को किस करो.

माँ मेरे पास आके मेरे गाल पे किस किया।

आदमी-आज ये तुम्हारा बेटा नहीं आशिक है और आशिक को लिप किस करते है इतना भी नहीं पता.

माँ मुझे किस करने से शर्मा रही थी. लेकिन उस आदमी के डर से वो अपने होंठ मेरे होंठों के पास बढ़ाने लगी. जैसे जैसे माँ के लिप्स मेरे लिप्स के करीब आने लगे, वैसे वैसे मेरे दिल की धड़कन तेज होने लगी… माँ ने अपने लिप्स मेरे लिप्स पे रखे और धीरे धीरे चूसना शुरू किया. मैं भी माँ का साथ देते हुवे माँ के लिप्स चूसने लगा. करीब 10 मिनट हम दोनों एक दूसरे को किस किये जा रहे थे.. तभी उस आदमी ने हमे रोकते हुए कहा– Maa bete ki chudai story

Maa bete ki chudai ki kahani

आदमी- लगता है दोनों को मजा आ रहा है, अब किसिंग ही करते रहोगे या आगे भी बढ़ोगे, चलो बेटा अपनी मम्मी के बूब्स चुसो.

मै-मुझे शर्म आ रही है मैंने कभी किसी के बूब्स नहीं चूसे है।

आदमी- तो फिर बचपन में लंड चुसके बड़ा हुवा है? साले इसी बूब्स को चुसके बड़ा हुवा है और अब शर्म आ रही है.

मै- लेकिन अब मै बच्चा तो नहीं रहा न.

आदमी- हां तो अब एक मर्द की तरह चुसो चूसते हो या में चुसके दिखाऊ?!

(ऐसा कहते हुवे वो माँ की तरफ आने लगा)। उसको आते देख मैने तुरंत अपना मुह माँ के बूब्स पे रखा और चूसने लगा. माँ के मुह से “आह” निकल गया.

आदमी- लगता है तुम्हारी माँ को अपने बेटे से बूब्स चुसवाना अच्छा लगा.

कुछ देर चूसने के बाद फिर उसने मुझे रोका और बोला।

आदमी- बेटे ने तो चूस लिया अब माँ चूसेगी बेटे का।

माँ- क्या मतलब है तुम्हारा?

आदमी- साली कभी लंड मुह में नहीं लिया क्या?

माँ- मै क्या तुमहे वैसी औरत लगती हूँ मैंने कभी नहीं लिया.

आदमी- लंड मुंह में लेने के लिए रंडी होना जरूरी नहीं, आजकल हर औरत अपने पति का चूसती है.

माँ-लेकिन मै नहीं चूसती.

आदमी- तो बेटे का चूस ले, ये जवान भी है और फ्रेश भी है..

माँ- नहीं मुझे नहीं करना ये सब.

आदमी- अगर इसका नहीं लिया तो मेरा डालूंगा मुंह में.

माँ ये सुनके डर गयी और नीचे बैठ गयी अब मेरा लंड माँ के मुंह के सामने था.. माँ ने अपना हाथ बढ़ाया और मेरा लंड पकड़ लिया…. माँ का हाथ जैसे ही मेरे लंड पे टच हुवा, मेरे शरीर में हलचल होने लगी. पहली बार किसी औरत ने मेरे लंड को पकड़ा था और वो भी मेरी माँ ने. थोड़ी देर आगे पीछे करने के बाद माँ ने मुंह खोला और मेरा लंड मुंह में ले लिया…मेरे मुंह से सिसकारी निकल गयी. एक अजीब सा मजा आने लगा. ऐसा लग रहा था की जैसे मै जन्नत में पहुंच गया हूँ… माँ मेरा लंड मुंह में ले के चूसने लगी. ये मेरा पहली बार था इसलिए कुछ देर चूसने के बाद ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया, जो माँ के मुंह में ही निकल गया. माँ ने मेरा वीर्य थूक दिया… Maa bete ki chudai story

Bete ne maa ko choda sex kahani

आदमी- क्या हुवा बेटे का रस अच्छा नहीं लगा?

माँ चुप हो गयी… झड़ने के कारण मेरा लंड ढीला पड़ गया.

आदमी- लगता है इसका तो काम तमाम हो गया…(लंड की तरफ इशारा करते हुए) साले इसको जगाओ और भी बहुत कुछ करना बाकी है.

मैंने हाथ में लेके बहुत हिलाया लेकिन कुछ फायदा नहीं हुवा, लंड खड़ा ही नहीं हुवा..

आदमी- एक काम करो अपनी माँ को रिटर्न गिफ्ट दे दो शायद इससे ये फिर खड़ा हो जायेगा.

मै- रिटर्न गिफ्ट मतलब?

आदमी- साले तेरा तो हो गया अब माँ को मजे लेने दो उसकी चूत चाटो…

माँ- प्लीज मेरे बेटे से ऐसा गन्दा काम मत करवाओ..

आदमी- गन्दा काम? कभी किया नहीं इसलिए ऐसा बोल रही हो एक बार चूत पे मुँह लग गया तो जन्नत की सैर करोगी…

उसने मुझे इशारा किया और बोला-

आदमी- चल अब जल्दी से अपनी माँ को जन्नत की सैर कराओ…

मै माँ के पास गया-

माँ-नहीं बेटे ये मत करो!!

मै- माँ मुझे भी ये सब नहीं करना है पर अब और कोई रास्ता नहीं है.

फिर मैंने माँ को एक पत्तर पे बैठने को बोला और नीचे मुंह ले गया. मैंने अपना मुंह माँ की चूत पे रखा और चाटने लगा. कुछ देर चाटने के बाद अब माँ को भी शायद मजा आने लगा. वो दोनों हाथो से मेरे सर को पकड़के चूत पे दबाने लगी… कुछ देर चूत चाटने के बाद माँ भी झड़ गयी और जोर जोर से सिसकियाँ लेते हुवे मेरे सर से हाथ हटा लिया.

आदमी- चाटना-चूसना बहुत हुवा अब चुदाई शुरू करो. अपने लंड को उसकी असली जगह दिखाओ…

मै फिर से लंड हाथ में लेके हिलाने लगा पर इस बार भी कुछ नहीं हुवा.

आदमी- लगता है माँ को चोदना तेरे नसीब में नहीं है… मुझे ही ये काम करना पड़ेगा.

माँ- लेकिन तुमने तो वादा किया था की तुम नहीं करोगे…

आदमी- मैंने ये वादा किया था की अगर तेरा बेटा तुझे चोदता है तो मै नहीं चोदूँगा. लेकिन तेरा बेटा तुमको चोद नहीं पाया इसमें मेरी क्या गलती.

माँ-प्लीज उसको थोड़ा टाइम दो उसने ये सब किया नहीं, ये पहली बार है उसका.

आदमी – ठीक है 15 मिनट का टाइम देता हूँ अगर तेरा बेटा का 15 मिनट में खड़ा नहीं हुवा तो फिर मै चोदूँगा तुमको..

माँ बेटे की चुदाई की सेक्स स्टोरी

माँ को समझ नहीं आ रहा था की क्या करे और वह बहुत डरी हुई थी. क्युकी माँ उस आदमी से सेक्स नहीं करना चाहती थी, लेकिन उस आदमी से छुटकारा पाने का सिर्फ 1 ही उपाय, की कैसे भी करके मेरा खड़ा करे. माँ अब मेरे पास आ गयी और मेरे लंड को हाथ में लेके हिलाने लगी. मै भी माँ को बचाने के लिए खड़ा करने की कोशिश कर रहा था, पर मेरा खड़ा होने का नाम ही नहीं ले रहा था. 10 मिनट निकल गए फिर भी मेरा खड़ा नहीं हुआ. माँ अब हार मान चुकी थी. वो दुःख भरी आँखों से मेरी तरफ देख के बोली-

माँ- बेटा मैने आज तक तुम्हारे पापा के सिवाय किसी और से नहीं किया.. आज सिर्फ तू ही अपनी माँ की इज्जत बचा सकता है, मै ये तो नहीं चाहती की तू मेरे साथ सेक्स करे पर इसके इलावा और कोई उपाय नहीं है, बेटा कैसे भी करके इसे खड़ा करो और मेरी… (इतना कह कर माँ चुप हो गयी.)। Maa bete ki chudai story

माँ की बातें सुनके मेरे लंड में थोडी सी हलचल हुई जो माँ ने महसूस किया. माँ अब समझ चुकी थी की मेरा लंड हाथों से नहीं बातो से खड़ा हो सकता है. फिर उसने आंसू पोछे और बोली-

माँ- बेटा जल्दी से अपना लंड खड़ा कर और डाल दे अपनी माँ की चूत में. देख तेरी माँ की ये चूत तेरा लंड लेने के लिए तड़प रही है. अगर आज इस चूत को नहीं चोद सका तो कभी नहीं चोद पायेगा. और अगर आज चोद लिया तो ये चूत तेरी हो जाएगी. अगले 5 दिन तुम्हारे पापा नहीं होंगे घर पर. ये 5 दिन हम रोज चुदाई करेंगे. आज ये मत सोचो की तुम्हारी माँ है तुम्हारे सामने. ये सोचो की एक नंगी रंडी है तुम्हारे सामने जो अपनी चूत चुदवाना चाहती है…

माँ के मुंह से ऐसे शब्द सुनके मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा होने लगा. माँ का ये नया रूप देख के वो आदमी भी दंग रह गया. अब मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था. मैंने बिना देरी किये माँ को नीचे लेता दिया। माँ ने अपने पैर फैलाये. अब माँ की चूत बिलकुल मेरे सामने थी. मैं माँ के ऊपर लेट गया और लंड माँ की चूत पे रख के रगड़ने लगा. माँ की चूत भी गीली थी इसलिए मेरा लंड आसानी से माँ की चूत में चला गया. मै अपने दोनों हाथो से माँ के बूब्स दबाने लगा और कमर ऊपर नीचे करके माँ की चुदाई करने लगा. माँ भी गरम हो चुकी थी वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

माँ- आह आह येस…बेटा चोद आज अपनी माँ को.. आज ये चूत तेरी है…जोर से चोद….आह और जोर से…पूरा लंड डाल दो अंदर…..आआह्ह्ह्ह आअह्ह्ह बहुत मजा आ रहा है.

मै- माँ मुझे भी बहुत मजा आ रहा है.. माँ आज के बाद मै रोज चोदूँगा तुझे.. चोदने दोगी ना मुझे अपनी ये मुलायम चूत..?

माँ- बेटा अब ये चूत भी तेरी और मै भी. तुम मुझे जब मन करे चोदना आह…हम्म्म्म…सससस..आह्हः बहुत मजा आ रहा है…

हमारी बातें सुनके उस आदमी को भी कुछ होने लगा. वो नंगा होकर हमारे पास आ गया और बोला—

आदमी-वाह यहाँ तो पार्टी हो रही है… तुम दोनों मजा कर रहे हो और मै तुमको खड़ा होके देखु ये तो नाइंसाफ़ी है!

माँ-लेकिन तुमने तो वादा किया था..?

आदमी- चोदूँगा नहीं ये वादा किया था बाकी सब तो कर सकता हूँ ना.

माँ- नहीं ये गलत है..!

आदमी- साली रंडी अपने सगे बेटे से मजे से चुदवा रही है और मुझे ज्ञान दे रही है!

इतना कह के वो माँ के पास आ गया और बोला—

आदमी- चल अब घोड़ी बन जा अपने बेटे का पीछे से चूत में ले और मेरा मुंह में.

Maa beta chudai kahani hindi

माँ ने इस बार कुछ नहीं कहा और घोड़ी बन गयी. मै माँ के पीछे गया और पीछे से माँ की चूत में लंड डाला और चुदाई करने लगा. वो आदमी अपना लंड माँ के मुंह के करीब ले गया माँ ने मुंह में लेने से मना किया. Maa bete ki chudai story

आदमी- रंडी जल्दी से मुंह खोल साली अपने बेटे का तो लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी. अब जल्दी मुंह में लो नहीं तो मुझसे बुरा कोई नहीं होगा!!

माँ अब डर गयी और बिना कुछ कहे उसका लंड मुंह में लेके चूसने लगी. अब मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ायी और 5 मिनट जोर जोर से चोदने के बाद माँ की चूत में ही झड़ गया. कुछ देर बाद वो आदमी भी माँ के मुंह में झड़ गया. फिर हम तीनो नंगे ही वॉटरफॉल के नीचे गए और नहाने लगे. कुछ देर नहाने के बाद उस आदमी ने माँ को एक पत्थर पे बैठने को कहा. फिर उस आदमी ने माँ के पैर फैलाये और चूत पे अपना मुंह ले गया और अपनी जीभ माँ की चूत में डालके चाटने लगा. चूत चाटने से माँ फिर से गरम हो गयी..

माँ- आअह्ह्ह….मजा आ रहा है और अंदर डालो जीभ…

आदमी- क्या मस्त चूत है तेरी.. अगर मै तेरा पति होता तो रोज इसे चाट के रस पीता…

कुछ देर चूत चाटने के बाद वो आदमी खड़ा हो गया.

माँ- क्या हुवा तुम रुक क्यों गए?

आदमी- तुम्हारी चाटने से मेरा फिर से खड़ा हो गया है. अगर और चाटा तो मै अपना वादा तोड़ के कही तुम्हारी चुदाई न कर बैठु इसलिए और नहीं चाटा.

माँ मेरी तरफ नशीली नजरो से देखने लगी लेकिन मेरा लंड ढीला पड़ चुका था जो 2 बार झड़ने से फिर शायद ही खड़ा हो.

माँ- बेटा क्या हम फिर से कर सकते है…मुझे तुम्हारी जरुरत है.

मै-माँ अब मुझे नहीं लगता मै फिर से कर पाउँगा..

माँ निराश हो गयी.

आदमी- अगर तुम चाहो तो मै तुम्हारी गर्मी ठंडी कर सकता हूँ…

माँ- (अपने आप को कण्ट्रोल करते हुवे) मुझे नहीं करना.

आदमी-ठीक है चूत में न सही कम से कम इससे मुंह में तो ले लो एक बार. इसके बदले में तुम्हारी चूत चाटके पानी निकालूँगा.

ma beta sex stories hindi

माँ बहोत गरम थी इसलिए बिना देर किये उसके पास गयी और लंड मुंह में लेके चूसने लगी. फिर उस आदमी ने माँ को नीचे लेटने को कहा और वो माँ के ऊपर 69 की पोजीशन मे लेट गया. वो माँ की चूत चाटने लगा और माँ उसका लंड. कुछ देर बाद वो दोनों एक दूसरे के मुंह में झड़ गए. माँ ने उसका वीर्य थूक दिया लेकिन वो माँ का जूस बड़े स्वाद के साथ चाट रहा था. फिर उस आदमी ने हमे वॉटरफॉल में नहाने को कहा और बोला— Maa bete ki chudai story

आदमी- तुम दोनों एन्जॉय करो मै तुम्हारा बैग लेके आता हूँ. तुम्हारा पीछा करते वक़्त वो बैग मैंने झड़ियों मे फेंक दिया था.

फिर मै और माँ वॉटरफॉल के नीचे गए माँ मेरे पास आ गयी और मेरा सर पकड़के अपने लिप्स मेरे लिप्स पे रख के किस करने लगी. मैं भी माँ की गांड पे हाथ फेरते हुवे वॉटरफॉल के ठन्डे पानी के नीचे माँ के लिप्स चूसने लगा. हम किसिंग करने में इतने खो गए की हमे पता नहीं चला वो आदमी कब वहाँ आ गया.

आदमी- तुम लोग फिर से शुरू हो गए.. कोई बात नहीं तुम एन्जॉय करो मै चलता हूँ ये रहा तुम्हारा बैग.

उसने बैग पत्थर पे रखा और वो चला गया. कुछ देर नहाने के बाद हम भी बहार आ गए और कपडे पहन लिए.

माँ – अब हमें घर जाना चाहिए.

मै- ठीक है माँ.. लेकिन माँ घर जाने के बाद तुम्हे ये कपडे निकालने होंगे.

माँ- क्यों?

मै- क्युकी तुमने वादा किया था की पापा आने तक मै तुम्हें रोज कर सकता हूँ.

माँ-ठीक है बाबा अगले 5 दिन हम बिना कपडे के ही रहेंगे. तुम जब चाहे मुझे चोद लेना, अब तो खुश..?

फिर हम अपने घर की ओर चल पड़े, जिंदगी का असली मजा लेने. स्टोरी कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताना. ताकि मै अगली कहानी की तैयारी कर सकूँ. और साथ में ये भी बताना की अगली स्टोरी किस रिश्ते के ऊपर लिखू.

Read More Mom Son Sex Stories..

See also  चाचा ने मुझे संतान सुख दिया मुझे बेटा हुआ

Leave a Comment

Discover more from NewStoriesBD BanglaChoti - New Bangla Choti Golpo For Bangla Choti Stories

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading