माँ सगे बेटे से चुदवाकर बनी उसकी बीवी-2

Hindi Stories NewStoriesBDnew bangla choti kahini

Antarvasna Mom Sex Story:- हेलो फ्रेंड्स क्या हाल है आप सब के? मैं एक बार फिर हाज़िर हूँ अपनी रीयल स्टोरी के अगले पार्ट के साथ. अगर किसी ने इस स्टोरी का पहला पार्ट नहीं पढ़ा है यहाँ से पढ़ लीजिये. बेटे का मोटा लंड देखकर माँ से रहा नहीं गया-1.

पिछले पार्ट मे आपने पढ़ा कि कैसे मेरा बेटा स्टडी कम्पलीट करके घर वापस आया और हम दोनों कैसे बाहर घूमने गए. फिर हमने मूवी देखी, शॉपिंग की और फिर मेरे बेटे ने मुझे प्रोपोज़ कर दिया. उसके बाद कैसे हमारे बीच लिप किस हुई और फिर घर जा कर मैंने उसका लंड चूसा और उसने मेरी चूत चाटी. लेकिन तभी मेरी बेटी आ गयी थी तो हमें रुकना पड़ा था. अब पढ़िये आगे. हां तो दोस्तों मैं अपनी बेटी को हग करके जाने लगी. तो मुझे कुछ अजीब लगा, वो सब पहले तो मैंने नोटिस किया. लेकिन फिर मैंने इग्नोर कर दिया बिकॉज़ उस टाइम तो बस मुझे मेरे बेटे का लंड दिख रहा था.

Antarvasna Mom Sex Story

तो मैं जाती हूँ अपने रूम में. वहाँ राज मेरी वेट कर रहा होता है. मैं अंदर जाती हूं गेट ओपन करके, साथ ही ये बोल के “राज मैं आ गयी”. तो वो मुझे देख के खुश हो जाता है. मैं डोर लॉक कर देती हूं और हम दोनों झट से गले लग जाते है. जैसे पता नहीं कितने सालों बाद मिले हो. क्यूंकि हम दोनों से ही नहीं रहा जा रहा था. हमने ज़ोर से एक-दुसरे को हग किया और हग करते टाइम ही उसने मेरी नैक पर किस किया जिससे मैं पूरी हिल गयी और फिर मैंने उसको और ज़ोर से पकड़ लिया और बोली-

मै: राज मेरे बेटे! माय बॉयफ्रेंड! आई लव यू सो मच. अब मत तड़पाओ मुझे.

वो बोला: आई लव यू सो मच माय लवली मॉम! माय ब्यूटीफुल गर्लफ्रेंड! मुझसे भी नहीं रहा जा रहा.

और हग करते टाइम उसका मोटा लंड मुझे अपनी जाँघों में महसूस हो रहा था. फिर उसने मुझे उठाया और बेड पर पटक दिया. उसके बाद वो मेरे ऊपर आया और पहले तो मुझे एक लिप किस दिया ज़ोरदार वाला जिसमे मैंने भी उसका पूरा साथ दिया. हम दोनों बहुत ही पैशनेट किस कर रहे थे और वाइल्ड भी, जिसके साथ ही साथ वो मेरे बूब्स और चूत को फिरसे सहलाने लगा. इससे मैं फिर गरम हो रही थी और सेक्स के लिए और पागल हो रही थी. फिर उसने मेरी नाइटी फाड़ डाली. वो वाइल्ड सेक्स कर रहा था जोश वाला. जो मुझे भी अच्छा लग रहा था. उसने एक हाथ से मेरा एक बूब दबाया और दूसरा अपने मुँह में ले लिया और सक करने लगा मेरे बूब्स और निप्पल. कभी वो एक राइट वाले बूब को चूसता कभी लेफ्ट वाले बूब को चूसता और फिर ऐसे ही करते-करते मेरी नाभि पर आ गया और सक करके लगा. मैं तो पागल हुए जा रही थी और अपने बेटे के सर पर ज़ोर-ज़ोर से हाथ फिरा रही थी. मैं साथ ही साथ उसको बोल रही थी. Antarvasna Mom Sex Story

“ओह बेबी आह और चूस मेरे बेटे आह आह्ह्ह” और ज़ोर-ज़ोर से आवाज़े निकालने लगी.

वो बोला: मम्मी थोड़ा धीरे रुपाली सुन लेगी.

तो मैं बोली: नहीं सुनेगी वो अब सो गयी होगी और मुझे करने दे, मैं बहुत सालों से प्यासी हूं, मैं खुल के चुदना चाहती हूं और जो आवाज़ निकल रही है उन्हें निकलने देना चाहती हूं. निकलने दो इन्हे. तू बस मेरी चुदाई कर, ज़ोरदार वाली। आहह आहह!

Mom Son Sex Story Hindi

उसके बाद उसने एक बार अपनी जीभ मेरी चूत पर लगा दी. इससे मैं पूरी हिल गयी और उसके सर को अपनी चूत में दबाने लगी. अब वो मेरी चूत चाटे जा रहा था और यहाँ मैं पागल हो रही थी. मैंने एक हाथ उसके सर पर रखा हुआ था और एक हाथ से कभी बेड शीट पकड़ लेती और कभी अपने एक बूब को पकड़ लेती और उसे ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगती. वो भी अपनी जीभ और फिंगर से मेरी चूत में अंदर-बाहर कर रहा था जिससे मैं बहुत ज़्यादा गरम हो गयी थी. मैं पूरी हिल रही थी. फिर 15-20 मिनट्स तक उसने मेरी चूत चाटी और फिर मैं झड़ने की कगार पर आ गयी थी एक बार फिर. क्यूंकि दोस्तों मुझे बीच में ही जाना पड़ गया था तो मैं थोड़ी ठंडी तो हो गयी थी तो फिरसे गरम होना ज़रूरी था. हां तो मैं झड़ने की कगार पर थी और मैंने बोला अपने बेटे से-

मै: और ज़ोर से चूस मेरे बेटे. प्लीज प्लीज डोंट स्टॉप. मैं झड़ने वाली हूं.

वो भी नहीं रुका और ज़ोर से चूसने लगा मेरी चूत को. स्लुर्प-स्लुर्प की आवाज़ आ रही थी चूसने की. फिर आह आह करते-करते मैं उसके मुँह में झड़ गयी. अब मेरी साँसे बहुत तेज़ चल रही थी. मैंने उसके सर को पकड़ा और उसको ऊपर किया और खींचा और हम दोनों एक-दुसरे की आँखों में देख रहे थे और हम दोनों खो गए थे बस एक-दुसरे में. वो मेरा सारा चूत का रस पी गया और मैंने उसको ज़ोरदार लिप किस दिया. मैंने उसके होंठ को थोड़ा काट भी लिया (लव बाईट दे दी थी) बिकॉज़ मैं आज बहुत खुश थी उससे. उसने मुझे बिना चोदे ही 2 बार झाड़ दिया. अभी तो उसका मोटा और लम्बा लंड लेना बाकी था. तो मैंने उसे किस किया और बोली:

आई लव यू बेटा. मैं तेरी दीवानी हो गयी हूं और चोद दे मुझे इस मोटे लंड से. अब रहा नहीं जा रहा.

उसने भी मुझे किस किया और अपना मोटा लंड पहले तो मेरे मुँह में दिया जिसे मैंने अच्छे से चूसा और गीला कर दिया. फिर उसने पहले तो अपना लंड मेरी चूत के ऊपर रख के फिराया सिर्फ ऊपर से. वाह क्या एहसास था वो. एक जवान लड़के का लंड मेरी चूत के ऊपर था वाह. फिर थोड़ा सेड्यूस करके जब मुझसे बिलकुल रहा नहीं जा रहा था तो मैंने बोला-

मै: प्लीज बेटा मत तड़पा मुझे. अब डाल दे न अपना लंड अंदर मेरी चूत में.

फिर उसने मेरी टाँगे चौड़ी की. मेरी चूत तो पहले ही मेरे नमकीन रस से गीली थी और उसका लंड भी गीला था. तो उसने मेरी चूत पर लंड रखा और अंदर डाला. आआह्ह्हह्ह्ह्ह मेरे मुँह से चीख निकल गयी ज़ोर से.

राज बोला: क्या हुआ माँ? अभी तो हाफ लंड ही गया है अंदर. आपकी चूत बहुत टाइट है माँ एक दम यंग लड़की की तरह.

मुझसे रहा नहीं जा रहा था और थोड़ा दर्द भी हुआ जैसे मैं पहली बार चुद रही थी. शायद ये इसीलिए क्यूंकि बहुत सालों से मैंने कोई लंड नहीं लिया था. और अब मिला भी तो इतना मोटा और लम्बा. फिर मैं थोड़ा नार्मल हुई और उसे बोली..

मै – क्या अभी हाफ ही गया है? वाह बेटा कितना बड़ा है तेरा लंड. मुझे तो आज जन्नत मिल जाएगी. डाल दे बचा हुआ लंड भी अंदर और फाड़ दे अपनी माँ की चूत.

राज: सच माँ. चलो फिर थोड़ा और दर्द होगा.

सॉरी माँ.

मै: इट्स ओके बेटा इस दर्द के लिए मैं कब से तड़प रही थी. कोई नहीं डाल दे अब अपना लंड.

फिर उसने अपना बचा हुआ लंड भी एक झटके में अंदर डाल दिया.

आअह्ह्ह मेरी और ज़ोर से चीख निकल गयी और आँखों से आंसू भी निकल रहे थे. शायद ये ख़ुशी के आंसू थे.

मेरा बेटा बोला: माँ आप ठीक हो न? बोलो तो मैं रुक जाता हूं. आपको दर्द हो रहा है.

मैं बोली: पागल इसी दर्द के लिए तो मैं तड़प रही थी. तू बस चोद अपनी माँ को. रुक मत चोदता रह. धीरे-धीरे दर्द कम हो जायेगा. तेरा है भी तो इतना बड़ा और मोटा.

फिर वो उसने अंदर-बाहर करना स्टार्ट कर दिया और मैं यहाँ सातवे आसमान में थी.

मै: आह आहह फ़क मी बेटा आह.

उसने अपने धक्के तेज़ कर दिए और बीच-बीच में हम दोनों लिप किस करते रहे.

मै: क्या चोदता है मेरा बेटा.

पहले तो मैं नीचे थी और मेरा बेटा ऊपर से लंड डाल रहा था. फिर उसने पोजीशन चेंज करी. उसने मेरी एक टांग अपने शोल्डर पर रख दी और मुझे चोदने लगा.

आह ओह्ह क्या लंड है मेरे बेटे का. सीधा मेरी चूत के आखरी हिस्से में टकरा रहा था. ऐसे करते-करते करीब 25 मिनट की घमासान चुदाई के बाद मैं बोली-

मै: मैं झड़ने वाली हूं बेटा.

उसने भी बोला: मैं भी माँ. बताओ अपना माल कहा छोड़ना है. तुम्हारी चूत में ही डाल दू अपना सारा माल.

मैं बोली: अभी नहीं जब डलवाना होगा तुम्हारा माल तब बता दूँगी. अभी जब आने वाला हो तो मेरे मुँह में डाल देना. मैं इस रस को पीना चाहती हूं.

Maa Beta chudai kahani

उसने अपने धक्को की स्पीड और तेज़ कर दी. इधर मैं भी उसका फुल सपोर्ट कर रही थी. ऐसे करते-करते पहले मैं झड़ गयी. फिर उसने जल्दी से अपना लंड निकाला और सीधा मेरे मुँह में दे दिया और मेरे मुँह को चोदने लगा ज़ोर-ज़ोर से. फिर अपना बहुत सारा माल मेरे मुँह में भर दिया गरम-गरम. वाह क्या माल था मेरे बेटे का एक-दम गाढ़ा और नमकीन. और मेरा तो पूरा मुँह ही भर गया था जिसे मैं सारा गटक गयी. फिर वो मेरे ऊपर ही लेट गया और मैं उसको बोली- Antarvasna Mom Sex Story

मै: वाह बेटा तू क्या तरीके से सेक्स करता है. बहुत दिनों बाद चुदी हूं मैं ऐसे. और ऐसे तो तेरे पापा मुझे कभी नहीं चोद पाते थे. अब तू मेरा ही है हमेशा के लिए और मैं तेरी. और फिर उसने मुझे लिप किस किया और बोला:

राज- आई लव यू माय ब्यूटीफुल मॉम माय गर्लफ्रेंड. हम दोनों हमेशा ऐसे ही चुदाई करेंगे और अभी तो देखो मैं आपको कैसे-कैसे चोदता हूं और कहा-कहा चोदता हूं.

मैंने बोला: अच्छा बेटा? चल फिर तो इंतज़ार रहेगा. वैसे भी मैं तेरे लंड की दीवानी हो गयी हूं. मुझसे कभी दूर मत जाना मैं तेरे बिना नहीं रह पाऊँगी. आई लव यू माय जान मेरे बेटे.

और फिर उसने मुझे दोबारा लिप किस किया और मैं उसका साथ देने लगी. उसका लंड फिर खड़ा हो गया जिससे मैं देख के बोली:

मै- तेरा तो फिर खड़ा हो गया रे. अब इसे फिर शांत करना पड़ेगा? वैसे तो मैं 3 बार आलरेडी झड़ चुकी हूं, लेकिन आज मैं और चुदना चाहती हूं. बहुत दिनों बाद ऐसा सेक्स करने को मिला है. मुझे निचोड़ दे पूरा मेरे राजा आज.

उसने फिर अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. वह क्या एहसास था वो जितनी बार भी लो उतनी बार पिछले वाले से ज़्यादा मज़ा आ रहा था. मेरे बदन में फिरसे करंट दौड़ गया.

मै: आहह ओह्ह चोद मुझे. फ़क मी माय सन.

वो भी बोलने लगा: यस माय ब्यूटीफुल मॉम. इतनी सुन्दर औरत मैंने पहले कभी नहीं देखि.

उम्म. फ़क फ़क और ज़ोर से.

वो स्पीड बढ़ाने लगा.

राज: मैं भी तेरी चूत का दीवाना हो गया हूं. मुझे भी अब ये रोज़ चाहिए.

मै: मैं भी बेटा तुझसे एक दिन भी बिना चुदे नहीं रह सकती. आई लव यू सो मच माय सोन. फ़क मी हार्ड!

और उसने स्पीड और बढ़ा दी और मेरे बूब्स ज़ोर-ज़ोर से निचोड़ने लगा. मैंने भी उसकी कमर में अपने नाखुनो से निशान बना दिए थे. उसको मैंने बहुत ज़ोर से पकड़ रखा था वो बहुत ज़ोर से जो चोद रहा था मुझे. हम दोनों ही वाइल्ड हो गए थे. बीच में उसने भी मेरी नैक पर लव बाईट दिया जो क्लियर दिख रहा था. मेरे प्यार की निशानी. फिर 15-20 मिनट के बाद हम दोनों फिर से झड़ने वाले थे. इस बार उसने पोजीशन चेंज कर ली. 69 की पोजीशन ले ली उसने. वाह क्या बेटा है मेरा. अब उसका लंड मेरे मुँह में और मेरी चूत उसके मुँह में थी. हम दोनों ही बिना रुके एक-दुसरे के लंड और चूत को चूस रहे थे. आहह आहह करते-करते हम दोनों एक साथ झड़े. इस बार भी उसका रस बहुत ज़्यादा था जिससे मेरा पूरा मुँह भर गया और मैं उसे एक बारी में घटक गयी. उधर मेरा भी रस मेरा बेटा सारा चाट गया .फिर उस रात हम दोनों नंगे ही एक-दुसरे को किस करके और गले लग के सो गए. पता ही नहीं चला कब नींद आ गयी. शायद बहुत दिनों बाद चरम सुख मिला था. शरीर की पूरी तृप्ति हो गयी थी. उधर मेरा बेटा भी थक गया था. तो हम दोनों नंगे ही सो गए.

Bete ne maa ko choda kahani

नेक्स्ट मॉर्निंग मैं थोड़ा जल्दी उठ गयी और जैसे ही बेड से उठी तो मैं खुश तो बहुत थी लेकिन रात भर चुदने के कारण मैं थकी हुई थी. मेरी चाल भी बदल गयी थी जैसे नयी नवेली दुल्हन की हो जाती है. फिर मैंने ब्रा पैंटी और नाइटी पहनी और बेटे को एक सोते हुए ही लिप किस करि और उसे सोता छोड़ गयी. बिकॉज़ उसने मेरी रात भर चुदाई की थी. और थक गया था वो.उसे अब तो मुझे रोज़ छोड़ना था. तो उसे रेस्ट की ज़रुरत थी. मैं किचन में गयी और वो ट्रांसपेरेंट नाइटी तो उसने रात में ही फाड़ दी थी. तो ब्रा पैंटी के ऊपर एक ओपन गाउन होता है जिसमे आगे डोरी होती है बाँधने वाली. वो मैंने पहन लिया अपने रूम में जाके. मेरा और मेरे बेटे का रूम साथ-साथ में था. और मैं किचन में काम करने लगी. तभी मेरी बेटी भी उठ गयी थी कॉलेज जाने के लिए और नीचे आयी. मुझे लगा कोई था मेरे पीछे. मैं पीछे मुड़ी और देखा पीछे मेरी बेटी खड़ी थी. मैंने उसको बोला: बेटी तुम हो गयी तैयार. बस बनने ही वाला ही ब्रेकफास्ट.

तो उसने भी बोला: कोई नहीं माँ कर लो आप

और उसने भी पीछे से हग करके गुड मॉर्निंग बोला. लेकिन उसका ये हग कुछ अलग फील हुआ मुझे जैसे वो मुझसे बहुत कुछ बोलना चाहती हो. उसने मुझे टाइट हग दिया और आगे से मेरे बूब्स भी प्रेस कर दिए. इससे मेरे मुँह से भी आअह्ह्ह निकल गयी. और मैं उससे बोली- Antarvasna Mom Sex Story

माँ: क्या कर रही हो रुपाली? जाओ टेबल पर वेट करो.

तो उसने भी बोला: ओके माँ. लेकिन आज कल आप बहुत सुन्दर लग रही हो. बहुत खुश भी.

फिर मैंने कुछ भी बोल के उसकी बात टाल दी और टॉपिक चेंज करते हुए उसे जल्दी ब्रेकफास्ट और उसका टिफन दिया और उसे कॉलेज भेज दिया. उधर मेरा बेटा भी उठ गया था. मैं नीचे बाकी का किचन का काम खत्म कर रही थी. उसे पता था रुपाली चली गयी थी कॉलेज. तो वो नंगा ही बिना कपड़ो के नीचे आया और मुझे पीछे से पकड़ लिया बहुत टाइट. मैं डर गयी और चिल्लाई.

तो उसने बोला: क्या माँ मैं हूं. अपने बेटे को नहीं पहचान पायी?

फिर मैं बोली: अरे तू है. और ये क्या कपडे तो पहन ले.

वो बोला: क्या ज़रुरत है माँ? अब सब कुछ तो जान लिया है हम दोनों ने एक-दुसरे के बारे में. मैं तो बोलता हूं तुम भी उतार दो अपने सारे कपडे.

तो मैं बोली: बेटा हमारे अलावा कोई और भी रहता है घर में. अगर रुपाली ने कुछ भी देख लिया तो गड़बड़ हो जाएगी.

तो वो बोला: हां तो माँ उसके सामने हम ढंग से रहेंगे न।

और ये बात उसने मुझे पीछे से हग करते हुए ही की. उसका लंड खड़ा हुआ था अपनी पूरी पोजीशन में और फिर मुझे भी तो अच्छा फील हो रहा था. मैं भी उसके लंड को दबा रही थी.

फिर वो बोला: यार माँ कल मज़ा आ गया आपके साथ. आप पहले क्यों नहीं मिली मुझे?

मैं बोली: बेटा मुझे भी तेरे साथ बहुत मज़ा आया है सच में. असली सुख मिला है मुझे. जीना क्या होता है ये मैंने कल सीखा. मुझे भी ये अफ़सोस है कि तू मुझे पहले क्यों नहीं मिला।

और फिर उसने मुझे पीछे से ही नैक पर किस करना स्टार्ट कर दिया. मैं पूरी हिल गयी और उसने मुझे पलटाया और किचन की स्लैब पर बिठा दिया और मुझे लिप किस करने लगा. उसने मेरी नाइटी भी उतार दी. इधर मैं भी गरम हो गयी और उसका पूरा साथ देने लगी. मुझे भी ये सब बहुत अच्छा लग रहा था. क्यूंकि इस तरह से कभी मेरे पति ने मुझसे सेक्स नहीं किया था. अब मेरा बेटा ही मुझसे अच्छे से सेक्स कर रहा था और ये किचन वाला तो मेरा भी फ़र्स्ट टाइम था. तो मैं तो और पागल हो रही थी.

मैं बोली: क्या बात है? आज सुबह-सुबह प्यार आ रहा है?

वो बोला: क्या करू मेरी गर्लफ्रेंड है ही इतनी सुन्दर. मुझसे रहा ही नहीं जा रहा और मैं तुम्हे और प्यार देना चाहता हूं.

और फिर उसने मेरा गाउन भी खोल दिया और मेरी ब्रा भी उतार दी और फिर एक हाथ से मेरी पैंटी के ऊपर से ही चूत को सहलाने लगा और मुझे किस कर रहा था. वो दुसरे हाथ से मेरे बूब्स प्रेस कर रहा था.

मै: वाह क्या सेडक्टिव सेक्स करता है रे तू.

मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी. उसके लंड को मैंने अपने हाथो में ले लिया और ज़ोर से दबाने लगी और हिलाने लगी. फिर वो नीचे झुका और मेरी पैंटी उतारी और अपनी जीभ मेरी चूत पर लगा दी. मुझे तो सच्ची बहुत मज़ा आ गया था.

मै: यार तू इस तरह मेरे साथ सेक्स करेगा तो मैं तो तेरे बिना 1 मिनट भी नहीं रह पाऊँगी. तू मुझे दिन पर दिन अपनी और दीवानी बनाता जा रहा है. वो मेरी चूत चाटता रहा और मैंने उसका सर अपनी चूत में दबा लिया.

Maa ne bete se chudwaya hindi kahani

मै: आहह आहह उफ़. अब मैं झड़ने वाली थी तो मैं बोली: बेटा मैं झड़ने वाली हूं. और तेज़ और तेज़ चोद माय सन.

और ये कहते-कहते मैं उसके मुँह पर झड़ गयी. फिर वो उठा और उसने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया सीधा. मैंने भी उसके लंड को कुछ चूसा और लाल कर दिया.

मै: अब डाल दे लंड मेरी इस चूत में और बुझा दे आग इस चूत की.

उसने एक ही झटके में अपना मोटा और लम्बा लंड डाल दिया और मेरे मुँह से चीख निकल गयी. वो रुका नहीं क्यूंकि वो जानता था की ये एक मीठा दर्द होता है औरत के लिए. और लगा रहा लगातार झटके मारने में. तभी मेरे फ़ोन पे मेरे पति की कॉल आयी और मैं तो चुदाई में खोई हुई थी. मेरे बेटे ने देखा की फ़ोन साइड में रखा हुआ था.

तो वो बोला: मॉम डैड की कॉल आ रही है.

तो मैं रुकी और जल्दी से कॉल उठा ली. मेरी साँसे तो चुदाई की वजह से तेज़ चल रही थी. तो मैं वैसे ही उनसे बात करने लगी.

मेरे पति बोले: क्या हुआ जान क्यों हांफ रही हो?

तो मैंने बहाना मार दिया: कुछ नहीं बस अभी जॉगिंग करके आयी हूं.

इधर मेरा बेटा रुकने का नाम नहीं ले रहा रहा. मैंने उसको इशारा भी किया लेकिन वो कहाँ मानने वाला था. वो लगा रहा चुदाई में. इधर मैं भी पागल हुई जा रही थी और कॉल पर बस हम्म हम्म बोल रही थी. बिकॉज़ मैं अगर मुँह खोलती तो मेरी आह निकल जाती. एक दो बार निकल भी गयी थी बीच में. तो मैंने बहाना मार दिया कुछ. फिर जल्दी से कॉल रख दी और फिर मैंने अपने बेटे की आँखों में देखा और उसे बोली- Antarvasna Mom Sex Story

मै: क्यों रे तू तो बहुत नॉटी हो गया है. तेरे बाप का फ़ोन था तब भी तू नहीं रुक रहा था.

तो उसने बोला: इस वक़्त तुम मेरी हो बस और हमारे बीच इतनी अच्छी चुदाई चल रही है. तुम्हे इतना मज़ा आ रहा है और बीच में मेरा बाप चूतिया आ रहा है. उसका कॉल नहीं आना चाहिए था तो मैं क्यों रुकू?

फिर मैं बोली: ऐसा नहीं बोलते बेटा वो तेरे पापा है और मेरे पति.

तो वो बोले: नाम का पति है. उसने तुम्हे कभी ऐसा सुख दिया? ऐसे शॉपिंग मूवी घूमना और प्यार से सेक्स किया कभी?

तो मैं बोली: नहीं.

फिर मेरा बेटा बोला: तो फिर हुआ ना वो नाम का पति, चूतिया कही का.

और उस वक़्त उसने अपना लंड मेरी चूत में डाला हुआ था. फिर उसने मुझे लिप किस किया ज़ोरदार जिसमे, मैंने भी उसका पूरा साथ दिया. हमने एक-दुसरे को लव बाईट भी दी.

फिर वो बोला: आज से तुम मेरी पत्नी बन के भी रहोगी. मैं तुम्हे अपनी गर्लफ्रेंड से अपनी बीवी बनाना चाहता हूं. बोलो बनोगी?

तो मैंने बोला: ये तो मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि तुम मेरे पति बनोगे. लेकिन अभी ऐसे नहीं. खाली बोल देने से नहीं. अभी फिलहाल मुझे चोदो और हम शादी करेंगे. तुम मुझे अपने नाम का मंगल सूत्र पहनाओगे. और फिर हम पहले सुहागरात मनाएंगे, सच वाले पति-पत्नी बन के और फिर हनीमून पर भी चलेंगे. पर याद रहे रुपाली को कुछ पता नहीं लगना चाहिए.

तो उसने मुझे ज़ोर से हग कर लिया और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा. करीब 15 मिनट बाद वो झड़ने वाला था तो इस बार उसने अपना लंड निकाला और मुझे जल्दी से नीचे बिठा दिया और सारा अपना पानी मेरे मुँह पर झाड़ दिया. मेरा पूरा मुँह उसके पानी से सन गया. लेकिन मुझे इसमें मज़ा भी आया. मेरा पहली बार था ये. उसके पानी को मैंने ऊँगली से चाटा और फिर उसे वैसे ही लिप किस किया.

Antarvasna Mom Son sex story hindi

मैंने उसको बोला: आई लव यू माय जान माय डार्लिंग.

उसने भी बोला: आई लव यू तू मेरी गर्लफ्रेंड माय जान और टाइट हग दिया.

फिर मैंने उसे बोला- मै: चलो अब नहा लो. फिर नाश्ता कर लेना. मैं भी नहा कर रेडी हो जाती हूं.

वो बोला: चलो न मम्मी एक साथ नहाते है. बहुत मज़ा आएगा और शावर सेक्स भी करेंगे. उसमे बहुत मज़ा है.

फिर मैंने उसे बोला: अभी नहीं बेटा अब तो मैं तेरी ही हूं. लेकिन तूने मुझे रात भर प्यार दिया है और सुबह होते ही फिर मुझसे इतना अच्छा मॉर्निंग सेक्स किया. तू भी थक जायेगा और मुझे तो तुझसे और चुदना है न. तो उसके लिए तुझे खाना भी पड़ेगा और मुझे पार्लर भी जाना है. Antarvasna Mom Sex Story

ये सुन के वो उदास हुआ और सीधा नहाने चला गया. तो जब मैंने उसे नहाने के लिए और अपने पार्लर जाने की बात की तो वो उदास हो गया और उदास हो कर जाने लगा. मुझे अच्छा नहीं लगा रहा था क्यूंकि उसने मेरी बरसो की प्यास बुझाई थी और मुझे कितना खुश रखता था और मैं उसे उदास कर रही थी. फिर मैंने उसे पीछे से जा कर पकड़ लिया और बोली:

मै – क्या हुआ मेरी जान उदास हो गए तुम?

वो बोला: क्यों होऊंगा नहीं क्या? आप पार्लर जाने की बात कर रही हो. मैं यहाँ अकेला क्या करूँगा? अभी तो मेरा कोई दोस्त भी नहीं है. प्लीज माँ मत जाओ न पार्लर. कल चले जाना पक्का. आज और मज़ा करते है. प्लीज मेरी जान प्लीज तुम्हे बहुत मज़ा दूंगा पक्का.

तो मैंने भी उसे बोला: अच्छा ठीक है. मैं आज भी छुट्टी कर लेती हूं. लेकिन सिर्फ आज और वो भी सिर्फ तेरे लिए. बिकॉज़ मैं तुझे उदास नहीं देख सकती और तू मुझसे इतना प्यार जो करता है.

इतना सुनते ही उसने मुझे उठाया और मुझे बाथरूम में ले जाने लगा ये बोल के कि चलो आज एक साथ नहाते है मेरी जान.

मैंने उसे बोला: रुको किचन में गैस तो बंद करके आने दो.

तो वो मुझे गॉड में ही उठा के ले गया किचन में और वह मैंने गैस ऑफ की और फिर हम बाथरूम में चले गए. फिर उसने मुझे नीचे उतारा और पहले तो एक ज़ोरदार जोशीला लिप किस किया. क्या किस किया उसने ज़ोरदार. लिप किस में मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी. क्यूंकि ये सब मै भी पहली बार ही कर रही थी. मेरा पति तो कुछ करता ही नहीं था. इसलिए मैं भी पूरा एन्जॉय कर रही थी. पूरे बाथरूम में मेरी और मेरे बेटे के लिप किस की आवाज़ गूँज रही थी. और घर में भी कोई नहीं था तो मैं भी टेंशन फ्री थी. लिप किस करते-करते उसने शावर ऑन कर दिया और हम दोनों भीग गए पूरे. उसने मेरा गाउन उतार दिया और खुद तो नंगा था ही. और फिर मेरी ब्रा और पैंटी भी उतार दी. फिर सीधा मेरी चूत में ऊँगली डाल दी. हमारी लिप किस चलती जा रही थी और धीरे से एक हाथ उसका मेरी चूत में था और एक हाथ से वो मेरे बूब्स दबा रहा था. मैं भी गरम हो रही थी. और फिर मैंने भी उसका लंड जो पूरा तना हुआ था उसे पकड़ लिया और आगे-पीछे करने लगी. Antarvasna Mom Sex Story

माँ बेटे की चुदाई की कहानी

यार क्या बताऊँ क्या लंड है मेरे बेटे का. जितनी बार भी पकडू उतनी बार पिछले वाले से ज़्यादा मज़ा आता है. एक-दम लोहे की तरह सख्त और गरम. फिर वो लिप किस के बाद नीचे बैठ गया और मुझे दीवार से सटा दिया और मेरी टाँगे ओपन की और फिर दोनों हाथो से चूत ओपन की. उसके बाद उसने अपनी जीभ अंदर डाल दी और अच्छे से चाटने लगा. मैं तो पूरी कांप गयी थी. मैंने उसका सर पकड़ लिया और दबाने लगी अपनी चूत में. साथ ही साथ मेरे मुँह से आवाज़े निकल रही थी. कामुक आवाज़े करते-करते मैं उसके मुँह में झाड़ गयी और मुझे तो बहुत मज़ा आया था. फिर मैं तेज़-तेज़ हांफने लगी. वो मेरा सारा रस पी गया और बोला: Antarvasna Mom Sex Story

राज – यार मॉम आपकी चूत का टेस्ट कितना अच्छा है. मैं तो पागल हो जाऊंगा इसे चाटते हुए. और आपका काम रस वाह क्या गज़ब का टेस्ट है उसका. मुझे अब वो रोज़ चाहिए. उसके बिना मैं नहीं रह पाउँगा.

फिर मैं बोली: तुझे रोका किसने है मेरी जान? मुझे भी तो तू जन्नत दिखा देता है.

फिर वो उठा और उसने मुझे नीचे बिठा दिया और फिर अपना मोटा लम्बा और गरम लंड मेरे मुँह में दे दिया जिसे मैं पूरा लोल्लिपोप की तरह चूस रही थी. मैं लंड पूरा अंदर ले रही थी और उसके टट्टे भी चूस रही थी. यार लेकिन सच में उसका लंड मुझे बहुत अच्छा लगा है. मुझे भी उसके लंड की आदत हो गयी है. मैंने उसे बहुत देर तक चूसा और फिर उसने मुझे रोका और ऊपर उठाया और लिप किस करते हुए उसने मेरी एक टांग उठायी और अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. पहले लंड आधा ही गया था तो मैं चिल्ला पड़ी आह्ह्ह्ह. फिर उसने मुझे कमर से टाइट पकड़ा और ज़ोरदार धक्का मारा और पूरा लंड अंदर डाल दिया. इससे मैं और तेज़ चीख पड़ी. लेकिन वो कहा सुनने वाला था. वो तेज़-तेज़ झटके मारता गया और लगातार चुदाई करता रहा. फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया और अपना लंड पीछे से मेरी चूत में डाल दिया. वाह क्या मज़ा आ रहा था यार शावर सेक्स में. वो भी घोड़ी बन कर चुदने में. फच फच की आवाज़े आने लगी थी और फिर वो नीचे बाथरूम के फर्श पर लेट गया और उसने मुझे अपने लंड पर बैठने को बोला. Antarvasna Mom Sex Story

मैं बैठी और मुझे लगा जैसे उसके लंड ने मेरे पेट को टच किया. इतना लम्बा था यार उसका. फिर मैं वही ऊपर-नीचे ऊपर-नीचे करके चुदने लगी. करीब 1 घन्टे की ज़बरदस्त चुदाई के बाद वो झड़ने लगा और बोला-

राज: मैं झड़ने वाला हूं मॉम अंदर ही झड़ जाता हूं.

फिर मैं बोली: अभी नहीं बेटा बाद में जब मैं बोलूंगी तब. मैं भी चाहती हूं तू अपना सारा रस मेरी चूत में छोड़े. और सही बताऊ तो मैं तुझसे शादी करना चाहती हूं और तुझे अपना पति बनाना चाहती हूं और फिर तेरे बच्चे की माँ बनना चाहती हूं.

ये सुन के वो खुश भी हुआ और थोड़ा चौंका भी.

वो बोला: ये क्या बोल रही हो मॉम शादी! लेकिन पापा और रुपाली का क्या?

मैं बोली: अरे इन दोनों को कुछ पता नहीं चलेगा. पहले तू चुदाई खत्म कर फिर बताती हूं.

माँ को चोदा बेटे ने

फिर वो और तेज़ मुझे चोदने लगा. आह आह्ह्ह करते-करते वो उठा और उसने अपना सारा माल मेरे मुँह में चोद दिया. माल उसका मैं सारा पी गयी. क्या माल था दोस्तों उसका गरम-गरम. वह मैं तो उसकी दीवानी बनती जा रही थी. और अब तो उसकी होना चाहती थी हमेशा के लिए. फिर हम दोनों नहाये और फिर मैं बाथरूम से जाने लगी और वो भी बाहर आ गया. हम दोनों अपने-अपने रूम में गए कपडे पहने और फिर वो आया मेरे कमरे में नंगा ही. Antarvasna Mom Sex Story

वो बोला: क्या माँ क्यों कपडे पहन रही हो? कौन है मेरे अलावा यहाँ रहने दो न.

तो मैं बोली: अरे मेरे स्वीटहार्ट. मेरी जान मैं तेरे लिए नंगी ही रहती. लेकिन रुपाली भी तो आ जाएगी न कॉलेज से. तो फिर हमें दिक्कत हो जाएगी न और हमें तो संभल के चलना है.

तो वो बोला: क्या मॉम यार कुछ करो इस रुपाली का. पापा तो रहते नहीं है और अगर एक बार रुपाली को भी सब पता चल जाये और वो हमारे साथ मिल जाये तो फिर तो खुल्लम खुल्ला चुदाई होगी और हमें कपडे पहनने की भी ज़रुरत नहीं. हम दोनों नंगे ही रहेंगे घर में और जब हम जब चाहे तब ही चुदाई करेंगे.

तो फिर मैं बोली: करती हूं कुछ. वैसे मुझे उसपे कुछ शक हो रहा है.

वो बोला: क्या शक?

तो मैं बोली: कुछ नहीं बाद में बताती हूं. पहले मैं श्योर हो जाऊ. जाओ तुम भी कुछ पहन लो.

फिर वो गया अपने रूम में और फिर मैंने एक ट्रांसपेरेंट ब्रा एंड पैंटी पहन ली और उसके ऊपर एक टाइट कुरता, बहुत हलके कपडे का, जिसमे मेरे बूब्स और निप्पल्स टाइट और हलके-हलके नज़र आ रहे थे और एक टाइट सलवार जिसमे मेरी थाइस बहुत सेक्सी नज़र आ रही थी. फिर मैं नीचे आयी और टेबल पर नाश्ता लगा दिया और बेटे को आवाज़ लगायी. वो भी एक शॉर्ट्स और ऊपर टी-शर्ट डाल के आ गया. और फिर वो बैठा और मैं उसका नाश्ता लगा रही थी. तभी उसने मेरा हाथ खींचा और मुझे अपनी गोद में बिठा लिया.

वो बोला: मेरी जान मैं तुम्हारे हाथ से खाऊंगा और मैं तुम्हे खिलाऊंगा.

मैं शर्मा गयी और बोली: क्या बेटा तू भी ना ऐसे प्यार करता रहेगा तो मैं तेरे बिना एक पल भी नहीं रह पाऊँगी और मुझे पार्लर भी जाना होगा। तो वहाँ भी तेरा ख़याल आएगा ना.

फिर वो बोला: यही तो मैं चाहता हूं मॉम, कि तुम मेरे ख्यालों में खोई रहो।

और उसने मुझे लिप किस किया. मेरी नज़र मेरे दिए हुए लव बाईट पर पड़ी

और मैं बोली- मैं: इसे छुपा ले बेटा! रुपाली देख लेगी तो क्या सोचेगी?

तो फिर वो बोला: माँ आप भी छुपा लो क्यूंकि आपके भी नज़र आ रही है मेरे प्यार की निशानी.

Mom son chudai kahani hindi

मैं बोली: कोई नहीं कुछ दिन और हमें फिर किसी से छुपाने की ज़रुरत नहीं. फिर मैंने उसे और उसने मुझे ब्रेकफास्ट खिलाया और बीच-बीच में वो मुझे लिप किस करता रहता जो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. फिर हमने नाश्ता खत्म किया और मैं उठी वहाँ से और किचन में बर्तन रखने गयी और उसको साथ ही धो भी दिया. मैं जब बाहर आयी तो वो टी.वी. देख रहा था हॉल में बैठ के. मैं भी उसके साथ हाथ में हाथ डाल के बैठ गयी. Antarvasna Mom Sex Story

फिर उसने मुझसे पूछा: माँ आप शादी कैसे करेंगी? उसका कुछ बता रही थी.

मैं बोली: हां हां बताती हूं. तो हम शादी 3 दिन बाद करेंगे और जिस दिन करेंगे उस दिन से पहले मैं कोशिश करुँगी कि रुपाली को पहले मैं, हम दोनों के सेक्स के बीच में शामिल कर लू. शादी का उसको बाद में बताउंगी.

वो बोला: लेकिन वो सेक्स के लिए मान जाएगी?

तो मैं बोली: वो तू मुझ पर छोड़ दे. बाकी जिस दिन शादी होगी. उस दिन पहले तू घर से निकल जाना कुछ बहाना बना के लाइक इंटरव्यू है बोल के और फिर मैं शॉपिंग का बहाना मार के निकल जाउंगी. फिर हम बाहर शादी का सामान खरीदेंगे और दूर मंदिर में जाके शादी कर लेंगे. Antarvasna Mom Sex Story

मैं: तुम बाहर ही एक होटल में हनीमून सुईट बुक करवा देना. फिर तुम पहले फ़ोन करके रुपाली को कुछ बहाना मार देना कि आज नहीं आ पाउँगा. उसके हाफ ऑवर के बाद मैं फ़ोन करके बहाना मार दूँगी. ऐसे करके हम अपनी सुहागरात भी मना लेंगे और हां तेरे पास बस आज का दिन है. फिर कल के बाद से तुम मुझे सीधा सुहागरात वाले दिन ही चोद पाओगे.

तो वो बोला: वो क्यों माँ? हम तो इतनी बार चुदाई कर चुके है.

तो मैं बोली: बेटा वैसे तो तू मुझे बहुत बार चोद चुका है और वो भी बहुत अच्छे से. और मैं भी तुझसे एक दिन भी चुदे बिना नहीं रह सकती. लेकिन मैं ये चाहती हूं कि मैं अपनी सुहागरात वाले दिन जीवन की सबसे अच्छी चुदाई करवाऊं. और उस दिन तुम्हे स्पेशल गिफ्ट भी दू. वो सरप्राइज रहेगा.

मैं: 3 दिन बिना चुदाई के तुम भी इधर पागल हो रहे होंगे और तुम्हारा माल इकठ्ठा हो जायेगा बहुत सारा. और इधर मैं भी तड़पुँगी तुम्हारे लिए और तुम्हारे लंड के लिए. तो बहुत मज़ा आएगा उस दिन.

फिर वो बहुत खुश हुआ और सीधा मुझे किस करने लगा और मैं भी उसका साथ देने लगी. उसने मेरे कपडे उतार दिए और मैंने उसके. हम दोनों नंगे पूरे हॉल में सोफे पर थे और एक-दुसरे में खोये हुए थे. वो मुझे किस कर रहा था और मैं उसे. वो मेरी चूत में ऊँगली कर रहा था और मैं उसका लंड ऊपर-नीचे कर रही थी. फिर बीच में मुझे एक-दम से याद आया की रुपाली भी आ जाएगी 1 ऑवर में क्यूंकि आफ्टरनून तो आलरेडी हो चूका था. Antarvasna Mom Sex Story

तो मैंने उसे बोला- मैं: बेटा अभी रहने दे. रुपाली कभी भी आ जाएगी.

Maa beta xxx sex story

लेकिन वो नहीं सुन रहा था. वो लगातार मुझे किस करे जा रहा था और मेरी चूत में ऊँगली कर रहा था. कभी मेरी गर्दन पर किस करता कभी मेरी चूची पे. मैं भी धीरे-धीरे सब भूल गयी और होश खो बैठी. फिर मैंने उसको झट से धक्का दिया और सोफे पर लिटा दिया. मुझसे नहीं रहा जा रहा था. उसे धक्का दिया तो वो सीधा हो गया सोफे पर और उसका लंड एक तो लगता ही बहुत बढ़िया है और सीधा मैंने पहले उसके लंड की अपने मुँह में ले लिया और अच्छे से चूसने लगी. वो भी मेरा सर पकड़ के अपना लंड और अंदर दबा रहा था जिससे मुझे खांसी आ रही थी. लेकिन यार सच में बहुत अच्छा लग रहा था. और साथ ही साथ मैंने उसके टट्टे भी चूसे. 15-20 मिनट के बाद मैं उठी और सीधा उसके लंड पर बैठ गयी. मेरा फेस उसकी तरफ था. मेरे हाथ उसकी चेस्ट पर थे. फिर मैंने अपनी चूत पर मैंने थूक लगाया और फिर उसके लंड पर बैठ गयी. बैठते ही मेरी तो आअह्ह्ह्ह निकल गयी. गरम मोटा और लम्बा लंड जो था उसका.

अब हम चुदाई कर रहे थे तेज़ तेज़. फिर 10 मिनट के बाद हमने पोजीशन चेंज करि. मैं नीचे आ गयी और उसने मेरी एक टांग अपने शोल्डर पर रख ली और फिर लंड एक ही झटके में अंदर डाल दिया. वो ज़ोर-ज़ोर से मुझे चोदता रहा और फिर थोड़ी देर बाद वो नीचे बैठा और मेरी चूत को चाटने लगा. मैंने भी उसका सर अपनी चूत में दबा रखा था. मैं तो सब कुछ भूल गयी थी की मैं कहा थी और दिन हो रहा था या रात. बस बेटे की चुदाई में होश खो बैठी थी. करीब 15 मिनट और चूत-लंड चूसने के बाद मैंने उसे सोफे पर बिठाया और फिर मैं उसके ऊपर बैठी. मैंने अपने हाथ उसके गले में डाले और बूब्स उसके मुँह में और ऊपर-नीचे होने लगी. उधर वो भी मेरा पूरा साथ दे रहा था. हम दोनों ने एक-दुसरे को बहुत टाइट से पकड़ा हुआ था और बहुत तेज़ चुदाई कर रहे थे. Antarvasna Mom Sex Story

तभी डोर बेल बजी. पहले तो हम दोनों में से किसी को कुछ सुनाई नहीं दिया क्युकी हम दोनों ही एक-दुसरे में खोये हुए थे. फिर डोर बेल 4-5 बार बजी तो हम होश में आये.

मैं बोली: देखा मैंने बोला था ना रुपाली आ जाएगी. छोड़ मुझे.

लेकिन वो नहीं छोड़ रहा था. वो मुझे और टाइट पकड़ लिया और बोला:

राज – बस माँ होने वाला है.

मैं भी इधर चरम पर थी तो उसे ज़्यादा कुछ नहीं बोल पायी और तेज़ धक्के लगने लगे हम दोनों के.

कुछ देर में वो बोला: मैं झड़ने वाला हूं.

तो मैं बोली: बेटा अंदर नहीं.

वो जल्दी से उठा और हम 69 की पोजीशन में आ गए और मैंने उसका लंड मुँह में लिया और उसने मेरी चूत मुँह में ले ली. इधर रुपाली डोर बेल बजा रही थी और चिल्ला भी रही थी ज़ोर-ज़ोर से. लेकिन हम दोनों तो अपने चरम पर थे तो कहा रुकने वाले थे. फिर 5 मिनट में वो मेरे मुँह में झड़ गया और मैं उसके मुँह में झड़ गयी, आह आह करते-करते. फिर थोड़ी देर तो ऐसे ही हम पड़े रहे. उसके बाद अचानक से मैं उठी और उसे बोली-

मैं: तू भाग अपने रूम में और कपडे लेता जा वही पहन लेना. और मैंने जल्दी से अपने कपडे पहने और जल्दी से डोर ओपन किया.

आगे क्या हुआ पढ़िये अगले पार्ट मे क्या रूपाली भी हमारे साथ सेक्स मे शामिल हुई? क्या हम शादी करके हनीमून मना पाये? बताऊँगी अगले पार्ट मे।

Read More Maa Beta Sex Stories..

See also  गर्भवती होते ही चुदाई के लिए पागल हो गयी फिर भाई ने मुझे शांत किया

Leave a Comment