गोवा ट्रिप पर पापा का लंड पूरा लिया भाग 2

Hindi Stories NewStoriesBDBangla choti golpo

हाय फ्रेंड्स! मेरा नाम रागिनी है. पिछले पार्ट मे आपने पढ़ा कि कैसे मै अपना बर्थड़े मनाने के लिए पापा के साथ गोवा गयी और वहाँ पर एक रेसोर्ट बुक किया और कमरे मे चहले गए अब पढ़िये आगे। अगर आपने पहला भाग नहीं पढ़ा है तो यहाँ से पहला भाग पढ़ लें। गोवा ट्रिप पर पापा का लंड पूरा लिया भाग-1

Papa ne choda

पापा और मैं अब रिसोर्ट में अपने रूम में चेक इन कर चुके थे. और मुझे बाहर का मौसम देख कर मन कर रहा था की बाहर पूल में जाऊ. बस तभी मैंने देखा पापा थोड़े टेंशन मे थे. मैंने सोचा उनका मूड ठीक कर देती हूँ. फिर मैं बाथरूम में चली गयी और जो ब्लैक बिकिनी पापा ने मेरे लिए खरीदी की थी वो पहन ली. पापा रूम में बेड पर बैठे थे और कुछ सोच रहे थे. तभी मैंने आवाज़ दी-

मै: पापा आप रूम में हो?

पापा: हां.

मैं अंदर गयी रूम में और वो देखते ही रह गए. मेरा जवान बदन जिसमे बिकिनी की ब्रा इतनी डीप थी की पूरी क्लीवेज दिख रही थी. ऐसा दिख रहा था जैसे दोनों ब्रेस्ट्स के कर्व्स नहीं सॉफ्ट बैलून्स हो और मेरी नैवेल हाय! कोई भी मर्द उसको देख ले और अपने लिप्स को काट न ले ऐसा हो नहीं सकता. उसके नीचे जो बिकिनी पैंटी थी वो परफेक्ट मेरे कर्व्स एंड थाइस को दर्शा रही थी. मेरे मोटे-मोटे वाइट स्किन थाइस को पापा नीचे से ऊपर देखते रह गए. उनकी आँखों में हवस के अलावा मैं कुछ नहीं देख पायी. एक लड़की समझ जाती है कि कौनसा मर्द उसे कैसे देख रहा है. और आज मैं ये महसूस कर रही थी कि पापा मुझे बस आइस क्रीम के जैसे चाट कर खा जाना चाहते थे.

पापा: रागिनी!

मै: जी हनी.

पापा: तुम काफी…

मैं पापा की तरगर्लफ्रेंड बढ़ी और उनके हाथ पकड़ कर उनसे कहा-

मै: मेरे साथ पूल में नहीं चलोगे बॉयफ्रेंड?

ये सुनते ही पापा की पेंट में टेंट बन गया और वो बोले-

पापा: बस मैं भी चेंज कर लू. और मैंने कहा-

मै: मैं आपकी हेल्प कर दू?

फिर पापा की शर्ट के एक-एक बटन को मैं खोल रही थी. वो गरम-गरम साँसे ले रहे थे. मेरे ऊपर उनकी साँसे उफ़! मर जावा मैं तो. और अब मेरा हाथ उनकी बेल्ट पे पड़ा. वो थोड़े से शॉक हो गए. मैंने उनकी बेल्ट खोली और फिर आहिस्ता से पेंट के बटन खोल दिए और ज़िप नीचे की. इस प्रोसेस में उनका प्राइवेट पार्ट काफी टच हुआ. अब वो मेरे सामने अंडरवियर में थे.

मै: डैडी! आप बोक्सर पहन लेना.

पापा: ओके.

फिर हम दोनों दूर हुए और वो बोक्सर पहनके मेरे साथ चलने लगे. मैं उनसे थोड़ी आगे चल रही थी ताकि उन्हें मेरी गांड अच्छे से दिखे जो एक-एक करके बाउंस हो रहे थे. क्यूंकि एयरपोर्ट में जब मैं वाशरूम गयी थी तब वो मेरी गांड को देख रहे थे. हम दोनों पूल के पास गए और आहिस्ता से पूल के अंदर चले गए. थोड़ा म्यूजिक चला और हम दोनों ने ड्रिंक्स मंगवाए. पापा और मैं दोनों ड्रिंक्स पी रहे थे. तभी मैंने पूछा-

मै: जानती हूँ आप थोड़े टेंशन मे हो. पर आज आप मेरे बॉयफ्रेंड हो और गर्लफ्रेंड के साथ एन्जॉय करो.

पापा ने ये सुनते ही मेरे हाथो में हाथ डाल कर मुझे अपने करीब खींचा और मैंने अपना पेट उनके पेट से टच कर दिया. मेरी ब्रैस्ट भी उनकी चेस्ट पे टच हो रही थी और उनके हाथ ने आहिस्ता से मेरी वैस्ट पर ग्रिप बना ली। दोनों सलौली कब कपल के जैसे डांस करने लगे पता ही नहीं चला और मेरी थाइस पर उनका डिक-हेड फील हुआ. मैं भी इनोसेंट एक्ट कर रही थी और पूरा फील ले रही थी और मैंने उनसे पुछा-

मै: आप मुझे देख कर कुछ बोलने वाले थे रूम में रुक क्यों गए?

पापा: मैं ये बोल रहा था की तुम काफी हॉट दिख रही हो बिकिनी में

(ये बात पापा ने मुझे मेरे एअरलोब्बस के पास आके कही)। फिर मैंने उन्हें हग कर लिया ये सुनते ही. उनके हाथ मेरी गांड पे जा रुके और उनकी हिम्मत बढ़ाने के लिए मैंने थोड़ी सी मोअन कर दी मममम. फिर वो अपना हाथ मेरी गांड पे रख कर घुमाने लगे और मुझे अपने से हग करके मेरी 34 सी ब्रेस्ट के मज़े भी लेने लगे. दोनों की बॉडी गरम हो चुकी थी और वो थोड़ी सी कमर को आगे-पीछे करना शुरू कर दिए थे. उन्होंने मुझे बोला: माय बेबी इस लुकिंग सो हॉट.और फिर किश की चीक पर. मैंने भी मोअन किया और अपने दोनों हाथो से उनके हेड को अपने ऊपर रब किया. वो चीक पे किश करते-करते मेरे एअरलोब को किश करते और एक बार उन्होंने मेरी एअरलोबे सक किया.

पापा: ऊम्मम.

मै: उममम डिअर.

पापा वास् किसिंग माय एअरलोबस एंड रब्बिंग हिज हैंड्स ऑन माय एस. ये करते-करते वो मेरे नैक तक आ गए और नैक पर जब गर्लफ्रेंडर्स की तरह किश किया तो मेरी ज़ोर से आह निकल गयी. सडनली उनकी टंग जब टच हुई मेरी पैंटी पानी-पानी हो गयी. और बस हम दोनों बाप-बेटी के रिश्ते को भूल गए. फिर वो और मैं दोनों ने लिप्स एक-दुसरे से टच किये और दोनों किश में डूब गए. इस बीच वो अपना हाथ मेरी पूरी बैक पर घुमा रहे थे और मैं खुद को एडजस्ट करने के किये उनकी लैप में बैठ गयी. उनके हाथ पीछे से मेरी एस को सपोर्ट किये और मैं उनके क्राउच के ऊपर बैठ गयी उफ़! इस बार उनका डिक पूरा फील हुआ मेरे थाइस पर और किश के दौरान मैं उनके डिक के ऊपर अपने क्राउच को ग्राइंड करने लगी जिससे उन्हें पता चला की आई वांटेड हिम नाउ. हमारी किश टूटी और फिर 2 मिनट्स एक-दुसरे को देखने के बाद वो बोले-

पापा: आई काँट कण्ट्रोल माइसेल्फ.

मै: यू आर माय डैडी. आपका पूरा हक़ है मुझपे. जानती हूँ आप मम्मी के जाने के बाद काफी अकेले हो पर मैं हूँ ना आपके साथ.

पापा ये सुनते ही मुझे किश नहीं स्मूच करने लगे और धीरे धीरे हाथ से मेरी पैंटी से क्लीट को रब करने लगे. मुझसे भी कण्ट्रोल नहीं हो रहा था और मैंने आह की आवाज़ निकाल दी और मैंने भी मौके का फ़ायदा उठाते हुए उनके बोक्सर को धीरे धीरे नीचे कर दिया. उनका डिक बाहर आ चुका था. उन्होंने मुझे एक हाथ से उठा कर अपने डिक पे बिठाया, पर पैंटी साइड करना भूल गए थे वो. फिर मैंने कहा-

मै: पैंटी साइड कर दो डैडी.

पापा ने मेरी बात सुन कर पैंटी पकड़ कर साइड की और वापस सेकंड ट्राई किया. उस टाइम मेरी सांस रुक गयी थी क्यूंकि दोनों से कण्ट्रोल खो गया था और दोनों सेंस में नहीं थे ड्रिंक्स की वजह से. उनके लंड का टोपा मेरी वर्जिन चूत में गया. फिर एक शॉट में वो और अंदर ले गए. मेरा सारा नशा गायब हो गया दर्द के वजह से और मैं भूल गयी थी पानी में ब्लड निकलेगा. पर फिर किस्मत अच्छी थी की ब्लड ज़्यादा नहीं निकला और पानी में गायब हो गया. धीरे धीरे वो मुझे अपनी लैप में ऊपर-नीचे ऊपर-नीचे करने लगे और मैं उन्हें शोल्डर पकड़ कर साथ दे रही थी. मेरे मुँह से अह्ह्ह्ह आअह्ह्ह अह्ह्ह्ह की आवाज़ निकल रही थी. पानी में छप छप की आवाज़े भी होने लगी थी.

पापा: तुम बहुत गरम हो अंदर आह्ह्ह! इतनी गर्मी मैंने किसी भी लड़की में नहीं देखि.

मै: आह आपका वो काफी बड़ा और थिक है. मुझसे नहीं होगा आह्ह्ह्ह आअह्ह्ह ममममम पापा आअह्ह्ह्ह.

पापा: बस थोड़ी देर और अभी दर्द गायब हो जायेगा. फिर उन्होंने मुझे किश किया मम्मुआह.

मै: आह ममुआहहह.

पापा: यस बेटी आह काफी गरम हो आह.

अब मैं भी थोड़ा अपनी एस को ऊपर-नीचे करने लगी क्यूंकि अब दर्द नहीं मज़ा आने लगा था और पापा के हेड को अपनी क्लीवेज के पास ले गयी और वो मेरी क्लीवेज को चूसने लगे चूमने लगे. और अपने हाथ से मेरी गांड को पकड़ के ऊपर-नीचे करते अपने लंड पर. ये करते-करते 40 मिनट हो चुके थे.

मै: आअह्ह्ह जान अह्ह्ह मममममम.

पापा: बेटी मैं अब आने वाला हूँ.

मै: डैडी पूल में नहीं आहहहहह सब को पता चल जायेगा. मैं आपको अपने अंदर चाहती हूँ आअह्ह्ह.

पापा: आअह्ह्ह आह्ह्ह्ह.

वो अब ज़ोर-ज़ोर मुझे अपने ऊपर करके स्ट्रोक लगाने लगे. ऐसा फील हो रहा था जैसे मेरे अंदर से सब कुछ निकलने वाला हो और उनका लंड मेरी वॉम्ब में टच होने लगा था.

मै: आहह यह यह अहह अह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्हह अह्ह्ह्हह्हह.

पापा: आह्ह्ह्ह मैं आ गया अह्ह्ह्ह.

मै: अह्ह्ह्ह आअह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ डैडी आआह्ह्ह्हह.

दोनों काफी तेज़ साँसे लेने लगे और एक किश के बाद जो 5-6 मिनट्स तक चला उन्होंने कहा-

पापा: तुम काफी हॉट हो. ऐसा इतना लम्बा मैंने आज तक कभी नहीं किया.

मै: मैं खुश हूँ कि आपने मेरी विर्जिनिटी ली है.

पापा: चलो रूम में चलते है. शाम हो गयी है.

मै: आप क्या ऐसे लेकर जाओगे?

हम दोनों हसने लगे और धीरे धीरे उनका लंड निकाला मैंने, जो मेरा मन नहीं था निकालने का. मेरे अंदर उनका सीमन था जो मुझे अंदर काफी फील हुआ कि एक हॉट गरम चीज़ मेरी वॉम्ब में गयी है. मैंने अपनी पैंटी एडजस्ट की और हम दोनों पूल से निकल के रूम में गए. आगे के स्टोरी के लिए वेट करना. लव यू गाइस.

Read More Sex Stories –

See also  भाभी के यार ने मेरी कुँवारी चूत फाड़ दी

Leave a Comment